‘उत्तराखंड में सड़कें दुरूस्त करने के लिये केंद्र जल्द धनराशि जारी करेगा’

  • ‘उत्तराखंड में सड़कें दुरूस्त करने के लिये केंद्र जल्द धनराशि जारी करेगा’
You Are HereUttrakhand
Sunday, February 09, 2014-2:07 PM

 देहरादून: उत्तराखंड में गत वर्ष जून में आई प्राकृतिक आपदा से क्षतिग्रस्त हुई सड़कों को मई महीने के पहले सप्ताह में शुरू होने वाली चारधाम यात्रा से पहले दुरूस्त करने के लिये सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) और राष्ट्रीय राजमार्ग विभाग के लिये स्वीकृत धनराशि को केंद्र जल्द ही जारी करेगा। यहां जारी एक सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार, हरिद्वार में मुख्यमंत्री हरीश रावत और अधिकारियों के साथ कल शाम हुई एक बैठक के दौरान केंद्रीय मंत्री आस्कर फर्नांडीस ने यह आश्वासन देते हुए कहा कि तय सीमा से पहले सड़क निर्माण कार्य पूरा करने के लिये धन की किसी प्रकार से कमी नहीं होने दी जायेगी। बैठक के दौरान बीआरओ अधिकारियों ने भी भरोसा दिलाया कि वे ंरिषिकेश-रूद्रप्रयाग-गौरीकुण्ड, रिषिकेश-उत्तरकाशी-गंगोत्री, रिषिकेश-जोशीमठ-बद्रीनाथ और टनकपुर-तवाघाट मार्ग पर तत्काल कार्य प्रारम्भ करेंगे तथा 30 अप्रैल तक उपरोक्त सड़कों को पूर्व की स्थिति में कर लेंगे जिससे चारधाम यात्रा सुचारू रूप से चले। बीआरओ द्वारा राज्य सरकार से श्रम शक्ति, मशीनरी और निर्माण सामग्री की भी मांग की गयी।

इस सम्बन्ध में तय हुआ कि बीआरओ 15 फरवरी तक अपनी मांग राज्य सरकार को भिजवा देगा, ताकि उसे समय से पूरा किया जा सके। बीआरओ द्वारा यह भी अनुरोध किया गया कि सड़कों को नदी के कटान से बचाने हेतु बाढ़ नियंत्रण कार्य करना आवश्यक है जिस पर राज्य सरकार ने उससे संवेदनशील स्थलों का चयन कर शीघ्र सूची बनाने का अनुरोध किया । बाढ़ नियंत्रण का कार्य सिंचाई विभाग द्वारा किया जायेगा। मुख्यमंत्री रावत ने बीआरओ को आश्वस्त किया कि उनके कर्मचारियों हेतु सचल पानी टैंक, मोबाइल वैन और सब्सिडी पर खाद्यान्न की सुविधा उपलब्ध करायी जायेगी तथा कहा कि यदि आवश्यकता पड़ी तो राज्य सरकार भी अपने संंसाधनों से बीआरओ की मदद करेगी। 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You