जल्द पैसे कमाने के चक्कर में अपनाया यह गलत तरीका, पुलिस ने किया गिरफ्तार

  • जल्द पैसे कमाने के चक्कर में अपनाया यह गलत तरीका, पुलिस ने किया गिरफ्तार
You Are HereChandigarh
Sunday, November 20, 2016-8:22 PM

 चंडीगढ़, (बृजेन्द्र): नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने खुड्डा लौहरा पुल के पास 3 किलो 800 ग्राम चरस के साथ 3 लोगों को दबोचा। आरोपियों में कुल्लू निवासी चरण दास, लेख राज और मनीमाजरा का किशोरी लाल राणा शामिल हैं। चंडीगढ़ नंबर की एक सिल्वर रंग की टाटा इंडिगो कार भी आरोपियों के कब्जे से बरामद हुई है। एन.सी.बी. को सूचना मिली थी कि ये लोग ड्रग तस्करी में संलिप्त हैं और कुल्लू से ड्रग्स की तस्करी कर ला रहे हैं। यह चरस गाड़ी की पिछली हैड लाइट्स में छिपाकर रखी हुई थी। यह कसौल, मनीकरण और कुल्लू जैसे इलाकों से लाई गई थी। जब्त चरस की कीमत 7 लाख रुपए बताई गई है।

जल्द पैसे कमाने के चक्कर में शुरू किया गलत काम

31 वर्षीय किशोरी लाल के बारे में पुलिस ने बताया कि वह मंडी जिले के गांव नेहरी से संबंध रखता है। उसका फार्मास्यूटिकल ड्रग मार्कीटिंग का कारोबार है। उसने डेराबस्सी में 2 मरला जमीन खरीदी थी, जिसकी कीमत वह नहीं दे पाया था। इसके बाद उसका कोटक बैंक के कर्मी के साथ कानूनी विवाद हो गया, जिसने किशोरी लाल के खिलाफ चैक बाऊंस का केस दर्ज करवाया जिसका फैसला उसके खिलाफ हुआ था। ऐसे में जल्दी पैसे कमाने के चक्कर में उसने चरस सप्लाई करनी शुरू कर दी। वह टैक्सी और ऑटो आपरेटर्स को ड्रग्स सप्लाई करता था। अन्य दोनों आरोपियों ने किशोरी के साथ चंडीगढ़ में चरस बेचना शुरू कर दिया। दोनों कुल्लू से चरस सप्लाई में उसकी मदद करते थे। इसे को चंडीगढ़ समेत आसपास के इलाकों के युवाओं में बांटा जाता था। इस वर्ष एन.सी.बी. द्वारा चंडीगढ़ में ड्रग केस में यह 26वीं गिरफ्तारी है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You