हार गए लेकिन हमारे लिए भी कुछ सकारात्मक पहलू रहे: इशांत

  • हार गए लेकिन हमारे लिए भी कुछ सकारात्मक पहलू रहे: इशांत
You Are HereSports
Thursday, December 12, 2013-12:23 PM

सेंचुनियन: भारत भले ही कल समाप्त हुई एकदिवसीय श्रृंखला में दक्षिण अफ्रीका से हार गया हो लेकिन तेज गेंदबाज इशांत शर्मा ने कहा कि उनकी टीम के लिए भी कुछ सकारात्मक पहलू रहे जिनका उपयोग वह दो टेस्ट मैचों की आगामी श्रृंखला में करेगी। भारत को पहले दो टेस्ट मैचों में करारी हार झेलनी पड़ी जबकि तीसरा मैच बारिश के कारण पूरा नहीं हो पाया।

इस तेज गेंदबाज ने मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘दोनों टीमों में प्रत्येक अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी है और सभी के दिमाग में यह बात होती है। यदि आप अपने विचारों पर नियंत्रण रख सकते हो और आप आत्मविश्वासी हो तो फिर जानते हो कि क्या करना है। इसलिए मुझे नहीं लगता कि यह बड़ी हार है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हां हमने श्रृंखला गंवायी है लेकिन हमारे लिए भी इसमें कुछ सकारात्मक पहलू रहे और हम टेस्ट श्रृंखला में उनका उपयोग करेंगे।’’ इशांत ने कल रेयान मैकलारेन को आउट करके 70वें मैच में 100 विकेट भी पूरे किए। उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के आठ विकेट पर 301 रन बनाने के संबंध में कहा, ‘‘शुरू में विकेट में उछाल थी लेकिन बाद में वह थोड़ा धीमा हो गया।’’

इशांत ने कहा, ‘‘हमें इस तरह के विकेटों पर वैरीएशन का उपयोग करने की जरूरत है क्योंकि पिच थोड़ा शुष्क रहती है। हवा अलग अलग दिशाओं से बहती हैं और कप्तान को अपने गेंदबाजों को रोटेट करना पड़ता है। हम प्रत्येक अलग अलग तरह के गेंदबाज हैं और हमें मौका दिया गया जो कि अच्छी बात है।’’ भारतीय पारी शुरू होने से पहले ही बारिश आ गयी और बल्लेबाजों को मौका नहीं मिला। भारतीय बल्लेबाज अभी तक इस दौरे में छाप नहीं छोड़ पाए हैं।

दूसरी तरफ दक्षिण अफ्रीका के सलामी बल्लेबाज क्विंटन डि काक ने तीनों मैच में शतक जमाया। इशांत ने कहा, ‘‘यह उसके लिए अच्छा है वह रन बनाने में सफल रहा लेकिन मुझे लगता है कि वह विशेषकर आज काफी भाग्यशाली रहा। सभी तीनों मैचों में गेंद उसके बल्ले से ऊपरी हिस्से से लगकर खाली स्थानों से होकर गई। इनमें संभावना बन सकती थी। आज तो उसे दो जीवनदान मिले।’’

इशांत ने भारतीय गेंदबाजों के प्रदर्शन पर कहा, ‘‘सभी बोल रहे हैं कि हमने कितने मैच खेले हैं लेकिन यदि आप औसत उम्र को देखो तो गेंदबाजी इकाई के रूप में हम काफी युवा हैं। सभी सीख रहे हैं। हमने गलतियां की और हमने उनसे सबक भी लिया।’’ इस तेज गेंदबाज को स्वयं आलोचनाओं का सामना करना पड़ा लेकिन उन्हें उम्मीद है बुरा दौर पीछे छूट चुका है।

इशांत ने कहा, ‘‘यह जिंदगी का हिस्सा है। प्रत्येक उतार चढाव से गुजरता है। मैंने रन लुटाए और मैं इसकी जिम्मेदारी लेता हूं। लेकिन लोगों को सोचना चाहिए कि यह आखिर में खेल है और गलतियां होती हैं। जब मैं वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट मैचों में नहीं खेला तो मैंने विश्लेषण किया कि मैं अपने गेंदबाजी में क्या सुधार कर सकता हूं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘महत्वपूर्ण यह है कि चयनकर्ताओं ने मुझे मौका दिया और टीम में वापसी की। सहयोगी स्टाफ और कप्तान भी यह मानता है कि मैं वापसी कर सकता हूं और अच्छा प्रदर्शन कर सकता है। यह मेरे लिये काफी मायने रखता है।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You