आखिर क्यों दूध पीकर यात्रा करना होता है अशुभ ? ये है असली वजह

Edited By Prachi Sharma,Updated: 11 Jun, 2024 03:14 PM

हमारे हिंदू धर्म में बहुत सी मान्यताएं प्रचलित है। जैसा कि पैर न हिलाना, रात को कंघी न करना, बाल खुले न छोड़ना। इसी बीच आपको बता दें कि एक और मान्यता ये भी है

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

हमारे हिंदू धर्म में बहुत सी मान्यताएं प्रचलित है। जैसा कि पैर न हिलाना, रात को कंघी न करना, बाल खुले न छोड़ना। इसी बीच आपको बता दें कि एक और मान्यता ये भी है कि किसी भी शुभ कार्य को लेकर अगर यात्रा करते हैं तो दूध पीकर जाना वर्जित माना जाता है। आपने अक्सर देखा होगा कि घर में बड़े-बुजुर्ग भी यात्रा करने से पहले दूध पीने के लिए मना करते हैं लेकिन आखिर ऐसा क्यों ? ये सवाल सभी के मन में आता होगा। तो आपके इन सभी सवालों का जवाब देते हुए आज इस आर्टिकल में बात करेंगे आखिर क्यों यात्रा के दौरान दूध पीना वर्जित होता है-

PunjabKesari dudh pee kar yatra kyu nhi karni chahiye

ज्योतिष शास्त्र में दूध का खास महत्व माना गया है। यह चंद्रमा का प्रतिनिधित्व करता है। बता दें कि चंद्रमा मन, भावनाओं, और कल्पना का ग्रह है। दूध को शांत, पौष्टिक और शीतल माना जाता है, जो चंद्रमा के गुणों के समान हैं और ऐसी मान्यता है कि यात्रा के समय चंद्रमा कमजोर होता है, ऐसे में यात्रा करने से पहले दूध पीने से चंद्रमा ग्रह और यात्रा पर इसका नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इतना ही नहीं आपको ये भी बता दें कि चंद्रमा और राहु एक दूसरे से शत्रुता का भाव रखते हैं। ज्योतिष मान्यताओं के अनुसार, चंद्रमा और राहु एक जगह होने से चांडाल योग का निर्माण करते हैं। जिससे आपको कई कठिन समस्याओं का सामना करना पड़ता है।  ऐसे में यदि आप दूध पीकर बाहर जाते हैं खासतौर पर चौराहे पर तो उस जगह पर वास करने वाली नकारात्मक शक्तियां आप पर हावी होने लगती है और व्यक्ति कई कष्टों से घिर जाता है क्योंकि चौराहा राहु का प्रतीक माना गया है इसलिए अगर आप शुभ कार्य के लिए बाहर जा रहे हैं, तो ज्योतिष शास्त्र की मानें तो इस बात का ध्यान रखें कि दूध पीकर न निकलें। 

 तो वही ऐसी भी मान्यता है कि दूध पीकर यात्रा की शुरूआत करते हैं तो इससे कुंडली में स्थित ग्रहों की स्थिति कमजोर होने लगती है और व्यक्ति को अशुभ फलों की प्राप्ति होती है। 

PunjabKesari dudh pee kar yatra kyu nhi karni chahiye

 आगे आपको बता दें कि स्कंद पुराण में भी ऐसा कहा गया है कि यात्रा पर जाते समय दूध पीने से बाधाएं आती है। हर बनता कार्य बिगड़ने लगता है। दूध पीने से यात्रा में अनावश्यक देरी और परेशानियां आती है। बता दें कि स्कंद पुराण में दूध को अशुभ पदार्थ माना जाता है, खासतौर पर यात्रा के दौरान। ऐसा माना जाता है कि दूध पीने से यात्रा में नकारात्मक ऊर्जा और बुरी आत्माएं आकर्षित होती है। इन सभी कारणों की वजह से यात्रा के दौरान दूध पीना वर्जित माना गया है। 

यदि आप भी चाहते हैं कि आपकी यात्रा सफल रहे किसी तरह की कोई परेशानी न आए तो दूध पीकर न जाएं। 

PunjabKesari dudh pee kar yatra kyu nhi karni chahiye

Related Story

India

97/2

12.2

Ireland

96/10

16.0

India win by 8 wickets

RR 7.95
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!