Kharmas 2024: मार्च माह में इस दिन से लगने जा रहा है खरमास, मांगलिक कार्यों पर लगेगी रोक

Edited By Prachi Sharma,Updated: 26 Feb, 2024 12:07 PM

kharmas

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ग्रहों के राजा सूर्य देव एक राशि में 30 दिन तक रहते हैं और जिस दिन से ये एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करते हैं उसे संक्रांति कहा जाता है। ज्योतिष शास्त्र के

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

Kharmas 2024: ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ग्रहों के राजा सूर्य देव एक राशि में 30 दिन तक रहते हैं और जिस दिन से ये एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करते हैं उसे संक्रांति कहा जाता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जिस दिन सूर्य देव मीन या फिर धनु राशि में गोचर करते हैं तो उस दिन से खरमास लग जाता है। साल में दो बार खरमास लगता है। खरमास को अशुभ माना जाता है। इस समय के दौरान कोई भी शुभ कार्य करना वर्जित होता है जैसे कि विवाह, मुंडन या फिर गृह प्रवेश। हालांकि इस दौरान पूजा-पाठ करने की मनाही नहीं होती है। इस समय में भगवान विष्णु भक्तों पर खास कृपा बरसाते हैं। तो चलिए अब जानते हैं मार्च माह में कब से खरमास लगने जा रहा है ?

PunjabKesari Kharmas

Kharmas Date 2024  खरमास मार्च में कब से शुरू ? 

पंचांग के मुताबिक  14 मार्च 2024 से खरमास की शुरुआत हो जाएगी और 13 अप्रैल को इसका समापन होगा। जिस दिन सूर्य देव मीन राशि में गोचर करेंगे, उस दिन से ही खरमास की शुरुआत हो जाएगी। इस दिन को मीन संक्रांति के नाम से जाना जाता है। 

PunjabKesari Kharmas

What is Kharmas क्या होता है खरमास ?
ज्योतिष शास्त्र की माने तो इसे गुरुवादित्य काल भी कहा गया है। ये समय साल में दो बार आता है एक दिसंबर-जनवरी और दूसरा मार्च-अप्रैल के आसपास।  दिसंबर-जनवरी में लगने वाले खरमास को धनुर्मास भी कहा जाता है क्योंकि इस दौरान सूर्य धनु राशि में आ जाते हैं। दूसरी तरफ मार्च-अप्रैल में लगने वाले खरमास को मीनमास के नाम से जाना जाता है। 

PunjabKesari Kharmas

Do this work during Kharmas खरमास के दौरान करें ये काम 

Worship पूजा-पाठ: खरमास के दौरान शादी और मुंडन जैसे कार्य वर्जित होते हैं। लेकिन इस दौरान देवी-देवताओं और गायों और साधु-संतों की पूजा करने से शुभ फलों की प्राप्ति होती है। 

Worship of Lord Vishnu भगवान विष्णु की पूजा- खरमास में खासतौर पर भगवान विष्णु की पूजा करने का विधान है। पूरे माह में विष्णुसहस्त्रनाम और गीता का पाठ करें। 

खरमास में ज्यादा से ज्यादा तपस्या करनी चाहिए। हो सके तो दिन में एक बार ही भोजन करें। 

PunjabKesari Kharmas
 

Trending Topics

Afghanistan

134/10

20.0

India

181/8

20.0

India win by 47 runs

RR 6.70
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!