वोडाफोन भारतीय साझेदार की हिस्सेदारी खरीदेने की तैयारी में

  • वोडाफोन भारतीय साझेदार की हिस्सेदारी खरीदेने की तैयारी में
You Are HereBusiness
Tuesday, September 24, 2013-3:03 PM

मुंबई: ब्रिटेन की दिग्गज टेलीकाम कंपनी वोडाफोन भारत में अपने साझेदार अनलजीत सिंह की 6.2 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदने की योजना बना रही है। सूत्रों के मुताबिक वोडाफोन इसके लिए विदेशी निवेश संवद्र्धन बोर्ड (एफआईबीपी) में प्रस्ताव रखने वाली है। वोडाफोन ने यह योजना सरकार की ओर से देश के टेलीकाम क्षेत्र में सौ फीसदी प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की छूट के मद्देनजर बनायी है।

इसके पहले तक भारत में कारोबार करने की इच्छुक विदेशी टेलीकाम कपंनियों के लिए किसी भारतीय कंपनी को साझेदार बनाना अनिवार्य था। देश के टेलीकाम क्षेत्र में एफडीआई की सीमा भी 74 प्रतिशत निर्धारित की गयी थी। लेकिन नए नियमों के तहत अब विदेशी टेलीकाम कंपनियों को इन सारी बंदिशो से छूट मिल चुकी है। वोडाफोन भारत में वोडाफोन इंडिया के नाम से कारोबार करती रही है।

इस संयुक्त उपक्रम में वोडाफोन की 64 फीसदी और भारतीय साझेदार अजय पीरामल की 11 फीसदी हिस्सेदारी है। बाकी 25 प्रतिशत हिस्सेदारी अन्य भारतीय साझेदारों के पास है जिसमें अनलजीत सिंह की हिस्सेदारी 6.2 प्रतिशत और बाकी हिस्सदारी आईडीएफसी के पास है। अनलजीत सिंह इस समय कंपनी के अध्यक्ष भी हैं।

हालांकि अनलजीत सिंह और वोडाफोन दोनों ने हिस्सेदारी खरीद की योजना पर स्पष्ट रुप से कुछ नहीं कहा है लेकिन अपुष्ट सूत्रों के अनुसार यह खबर पक्की है कि वोडाफोन अनलजीत सिंह की हिस्सेदारी खरीदने जा रही है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You