शक के आधार पर उद्योगपतियों को बलि का बकरा नहीं बनाया जा सकता: फिक्की

  • शक के आधार पर उद्योगपतियों को बलि का बकरा नहीं बनाया जा सकता: फिक्की
You Are HereBusiness
Friday, October 18, 2013-11:19 AM

नई दिल्ली: कोयला आवंटन घोटाले में प्रमुख उद्योगपति कुमार मंगलम बिड़ला का नाम आने के बाद वाणिज्य एवं उद्योग मंडल फिक्की ने कहा है कि ‘‘केवल संदेह’’ के आधार पर उद्योगपतियों को बलि का बकरा नहीं बनाया जा सकता। केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने कोयला खान आवंटन घोटाले में सप्ताह की शुरुआत में प्रमुख उद्योगपति कुमार मंगलम बिड़ला के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

फिक्की की अध्यक्ष नैना लाल किदवई ने कहा ‘‘इस तरह की कार्रवाई से राष्ट्र की छवि खराब होती है और घरेलू तथा विदेशी दोनों तरह के निवेशकों के विश्वास को झटका लगता है। सरकार और उद्योग जगत के बीच बार बार विश्वास की कमी के मामले सामने आने से व्यावसायिक धारणा और निवेश का परिवेश दूषित होगा।’’ किदवई ने कहा, ‘‘योग्य और ऊंचे मान सम्मान वाले कारोबारी नेताओं को केवल संदेह और गलत समझ लेने के आधार पर बलि का बकरा नहीं बनाया जा सकता।’’

सीबीआई ने इस सप्ताह की शुरुआत में कोयला खान आवंटन में कथित भ्रष्टाचार के मामले में आदित्य बिड़ला समूह और उनकी कंपनी हिन्डाल्को के प्रतिनिधि के तौर पर बिड़ला के खिलाफ मामला दर्ज किया है। एजेंसी ने इस मामले में पूर्व कोयला सचिव पी.सी. पारेख का नाम भी एफआईआर में लिखा है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You