दवा कंपनियों पर आरोप तय होने की आशंका में टूटा बाजार

  • दवा कंपनियों पर आरोप तय होने की आशंका में टूटा बाजार
You Are HereStock Market
Friday, November 04, 2016-4:44 PM

मुंबईः नकारात्मक वैश्विक संकेतों तथा अमरीकी अदालत में भारतीय दवा कंपनियों पर आरोप तय होने की आशंका में आज घरेलू शेयर बाजार लगभग 4 महीने के निचले स्तर पर आ गए। बी.एस.ई. का सैंसेक्स 0.57 प्रतिशत यानी 156.13 अंक गिरकर 27,274.15 अंक पर और नैशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 0.60 अंक यानी 51.20 अंक लुढ़ककर 8,433.75 अंक पर बंद हुआ। यह सैंसेक्स की लगातार पांचवें कारोबारी दिवस की गिरावट है जबकि निफ्टी लगातार तीसरे दिन टूटा है। इन 5 दिनों में सैंसेक्स 667.36 अंक टूट चुका है। मीडिया में आई एक खबर के अनुसार, अमरीकी अदालत में इस साल के अंत तक भारतीय दवा कंपनियों पर सांठ-गांठ कर जेनरिक दवाओं की कीमतें नियंत्रित करने के मामले में आरोपपत्र दाखिल हो सकता है। सभी बड़ी भारतीय दवा कंपनियों के लिए अमरीका सबसे महत्वपूर्ण बाजार में शामिल है। इस खबर के बाद सैंसेक्स की 3 सबसे ज्यादा नुकसान उठाने वाली कंपनियां सनफार्मा 7.41 प्रतिशत, डॉ. रेड्डीज लैब 5.67 प्रतिशत तथा ल्युपिन 3.57 प्रतिशत शामिल रहीं। इसके अलावा बाजार पर रिलायंस इंडस्ट्रीज का भी दबाव रहा। 

सरकार द्वारा केजी बेसिन में ओ.एन.जी.सी. के तेल क्षेत्र के पास खनन कर गैस चोरी के मामले में उस पर 1.55 अरब डॉलर का हर्जाना नोटिस भेजे जाने की खबरों के बाद उसके शेयर 1.92 प्रतिशत की गिरावट में बंद हुए। सैंसेक्स की 30 में से 18 कंपनियां तथा 20 में से 17 समूह लाल निशान में रहे। दवा कंपनियों पर दबाव से स्वास्थ्य समूह में 4.16 फीसदी की गिरावट देखी गई। रियलिटी समूह 2.44 तथा धातु 2.41 फीसदी टूटे।  

दिग्गज कंपनियों में गिरावट से कमजोर हुई निवेश धारणा का असर मझौली तथा छोटी कंपनियों पर भी दिखा। बी.एस.ई. का मिडकैप 1.34 प्रतिशत तथा स्मॉलकैप 2.20 प्रतिशत लुढ़ककर क्रमश: 12,839.53 अंक तथा 12,877.48 अंक पर रहे। सैंसेक्स 35.27 अंक की बढ़त में 27,465.55 अंक पर खुला और कुछ देर बाद ही 27,498.91 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया लेकिन इसके बाद वैश्विक दवाब में यह लाल निशान में चला गया। इस बीच रिलायंस इंडस्ट्रीज को हर्जाने के लिए नोटिस दिए जाने की खबर के बाद बाजर की गिरावट और तेज हो गई।

कारोबार के दौरान एक समय यह लगभग 240 अंक टूटकर 27,193.61 अंक तक उतर गया था, लेकिन बाद में कुछ संभलते हुए गत दिवस के मुकाबले 156.13 अंक नीचे 27,274.15 अंक पर बंद हुआ। यह इस साल 08 जुलाई के बाद का इसका निचला बंद स्तर है। निफ्टी का ग्राफ भी सैंसेक्स की तरह ही रहा। यह 18.65 अंक मजबूत होकर 8,503.60 अंक पर खुला। कुछ देर बाद ही 8,504 अंक के दिवस के उच्चतम तथा आखिरी कारोबारी घंटे में 8,400 अंक के न्यूनतम स्तर से होता हुआ 51.20 अंक की गिरावट में यह 8,433.75 अंक पर बंद हुआ। यह इसका भी 08 अक्तूबर के बाद का निचला स्तर है। बी.एस.ई. में कुल 3,020 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें 2,205 में गिरावट तथा 696 में बढ़त देखी गई जबकि 119 के शेयरों के भाव अपरिवर्तित रहे।  
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You