बलौंगी में हरविंदर पर फायरिंग करने वाले तीन शूटर गिरफ्तार

  • बलौंगी में हरविंदर पर फायरिंग करने वाले तीन शूटर गिरफ्तार
You Are HereChandigarh
Sunday, August 13, 2017-10:20 AM

मोहाली (राणा): पुलिस ने सुपारी लेकर मर्डर करने वाले गैंग के तीन सदस्यों को भारी मात्रा में हथियारों के साथ गिरफ्तार किया है। आरोपियों पर बलौंगी थाना में केस दर्ज कर उन्हें कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें दो दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया। आरोपियों की पहचान विपन, सुनील व हरदीप सिंह के रूप में हुई है। 

 

प्रैस कांफ्रैंस में एस.एस.पी. कुलदीप सिंह चहल ने बताया कि पुलिस सबसे पहले बलटाना निवासी रोहित को बलौंगी थाने में दर्ज एक केस में प्रोडक्शन वारंट पर लेकर आई थी। आरोपी ने पूछताछ में बताया कि उसने अपने साथी राजिदंर सिंह उर्फ जोकर के जरिये अपने अन्य साथियों की मदद से बलौंगी निवासी हरविद्र सिंह पर गोलियां चलवाई थीं। इसके बाद राजिंद्र को एक केस में गिरफ्तार कर लिया गया था। 

 

साथ ही आरोपी रोहित ने यह भी कबूला कि उसने जिला फतेहगढ़ निवासी विपन कुमार, सुनील कुमार उर्फ सीलू उर्फ सिली, हरदीप सिंह उर्फ हैपू ने हत्या की साजिश रची और हरविंदर पर गोलियां चलवाईं। उसी दिन से आरोपी फरार थे, जिन्हें गिरफ्तार करने के लिए पुलिस छापेमारी कर रही थी। पुलिस को सूचना मिली कि आरोपी चप्पड़चिड़ी के नजदीक हैं। पुलिस ने वहां से आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। 

 

पी.जी.आई. में भी हरविंदर को मारने की रची थी साजिश
एस.एस.पी. कुलदीप सिंह चहल ने बताया कि पूछताछ में गैंग के मैंबरों ने कबूला कि नीरज, गुरप्रीत सिंह उर्फ प्रीति, विपन कुमार, सुनील कुमार उर्फ सीलू ने रोपड़ के सरकारी कालेज में चन्नप्रीत सिंह को गोलियां मारी थी। यह केस इनके खिलाफ रोपड़ में दर्ज है। इसके अलावा गैंग ने हरविंदर को इलाज के दौरान चंडीगढ़ पी.जी.आई. में भी गोली मारने के लिए रैकी कर रहा था। आरोपी रोहित ने अपनी पत्नी रीना से रैकी करवाई थी और उसी के द्वारा हरविंदर को मारने की साजिश रची गई थी। 

 

रोहित ने रीना की गाड़ी का नंबर व फोटो अपने अन्य साथियों को व्हाट्सएप्प पर भेजी थीं। आरोपियों के खिलाफ पहले भी अलग-अलग पुलिस थानों में केस दर्ज हैं। ये एक और वारदात को भी अंजाम देने की तैयारी में थे। विपन कुमार पर थाना कुराली, मोहाली में केस दर्ज है। वहीं, हरदीप सिंह पर थाना नंगल में तीन आपराधिक केस और 1 केस ऊना हिमाचल प्रदेश में भी दर्ज है। 


 

आरोपियों से एक 32 बोर व 19 जिंदा कारतूस किए बरामद
आरोपी विपन से एक 32 बोर व 19 जिंदा कारतूस, 2 पिस्टल 315 बोर व 20 जिंदा व एक खोल 32 बोर, 19 जिंदा कारतूस, 2 पिस्टल 315 बोर व 20 जिंदा व एक खोल, आरोपी सुनील से एक पिस्टल 32 बोर व 16 जिंदा कारतूस, एक पिस्टल 315 बोर व 19 जिंदा कारतूस व एक खोल कारतूस, आरोपी हरदीप के पास से एक पिस्टल 30 बोर व 2 जिंदा कारतूस बरामद किए गए। आरोपियों ने वारदात के लिए जिस बाइक का इस्तेमाल किया था, वह भी बरामद कर ली गई। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You