जन्माष्टमी पर राशि अनुसार मंत्रों का जाप करने से सुख-सौभाग्य प्राप्त होता है

  • जन्माष्टमी पर राशि अनुसार मंत्रों का जाप करने से सुख-सौभाग्य प्राप्त होता है
You Are HereDharm
Wednesday, August 28, 2013-10:25 AM

भगवान श्रीकृष्ण विष्णु जी के आठवें अवतार माने जाते हैं। श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव का नाम ही जन्माष्टमी है। गोकुल में यह त्योहार 'गोकुलाष्टमी' के नाम से मनाया जाता है। इस दिन समस्त श्रीकृष्ण भक्त भक्ति रस में डूबे रहते हैं। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर किया गया पूजा-पाठ अश्वमेघ-यज्ञ के समान फल देता है। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर अपनी राशि अनुसार मंत्रों का जाप करने से सुख-सौभाग्य की प्राप्ति होती है। शुभ प्रभाव बढ़ाने व सुख प्रदान करने में ये मंत्र अत्यन्त प्रभावी हैं-

1. मेष- मेष राशि वाले जातक इस मंत्र का जाप करें,'ॐ कमलनाथाय नम:।'

2. वृषभ- वृषभ राशि वाले जातक कृष्ण-अष्टक का पाठ करें।

3. मिथुन- मिथुन राशि वाले जातक ठाकुर जी को तुलसी चढ़ाएं एवं 'ॐ गोविन्दाय नम:' मं‍त्र का जाप करें।

4. कर्क- कर्क राशि वाले जातक प्रभु को सफेद गुलाब चढ़ाएं एवं राधाष्टक का पाठ करें।

5. सिंह- सिंह राशि वाले जातक 'ॐ कोटि-सूर्य-समप्रभाय नम:' का जाप करें।

6. कन्या- कन्या राशि वाले जातक ठाकुर जी के बालरूप का स्मरण कर 'ॐ देवकी-नंदनाय नम:' मंत्र का जाप करें।

7. तुला- तुला राशि वाले जातक ठाकुर जी का स्मरण कर 'ॐ लीला-धराय नम:' का जाप करें।

8. वृश्चिक- वृश्चिक राशि वाले जातक ठाकुर जी के वराह अवतार का स्मरण कर 'ॐ वराह नम:' का जाप करें।

9. धनु- धनु राशि वाले जातक ठाकुर जी के गुरु रूप का स्मरण कर 'ॐ जगद्‍गुरुवे नम': का जाप करें।

10. मकर- मकर राशि वाले जातक ठाकुर जी के सुदर्शनधारी रूप का स्मरण कर 'ॐ पूतना-जीविता हराय नम:' का जाप करें।

11. कुंभ- कुंभ राशि वाले जातक ठाकुर जी के दया रूप का स्मरण कर 'ॐ दयानिधाय नम:' का जाप करें।

12. मीन- मीन राशि वाले जातक ठाकुर जी के नटखट रूप का स्मरण कर 'ॐ यशोदा-वत्सलाय नम:' का जाप करें।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You