उस घर में अचल लक्ष्मी सदैव निवास करती हैं

  • उस घर में अचल लक्ष्मी सदैव निवास करती हैं
You Are HereDharm
Friday, November 15, 2013-5:05 PM
 

1 जो व्यक्ति महाशक्ति माहेश्वरी के सबसे प्रिय शास्त्र देवी भागवत का पाठ विधिवत नियमित रूप से करें या विद्वानों के द्वारा करायें एवं श्रवण करें उसके घर में लक्ष्मी सदैव निवास करती है।

2 जिसके घर में पशु-पक्षीयों का बसेरा रहता है, सुन्दर पत्नी हो, घर में कलह न होती हो, उसके घर में निश्चय ही लक्ष्मी रहती है।

3 जिस व्यक्ति के घर में यज्ञ, अनुष्ठान, देवजप, महाशक्ति माहेश्वरी की पूजा व सुबह-शाम की आरती नियमित रूप से होती है, उसके घर में लक्ष्मी सदैव निवास करती है।

4 जो व्यक्ति मधुर बोलने वाला, अपने कार्य में तत्पर, क्रोधहीन, ईश्वर भक्त, अहसान मानने वाला, इन्द्रियों को नियन्त्रण में रखने वाला तथा उदार हो उसके घर लक्ष्मी निवास करती है।

5 जो व्यक्ति अपने घर में कमलगट्टे की माला, एकाक्षी नारियल, श्वेतार्क गणपति, दक्षिणावर्ती शंख, पारद शिवलिंग व श्रीयंत्र की स्थापना किसी विद्वान आचार्य के द्वारा अभिमंत्रित एवं विधिवत पूजा के अनुसार करवाता है उसके घर में अचल लक्ष्मी सदैव निवास करती है।

6 जो नित्य स्नान करता है, सुरूचि पूर्ण स्वच्छ वस्त्र धारण करता है, शीघ्र भोजन करता है, बिना सूंघे पुष्प देवताओं पर चढ़ाता है, जो दूसरी स्त्रियों पर कुदृष्टि नहीं रखता, उसके घर में लक्ष्मी रहती है।

7 जिसके घर में नित्य उत्सव होता है, जो भगवान शिव की पूजा करता है, जो घर में देवताओं के सामने धूप व दीपक जलाता है, जो अपने गुरू को ईश्वर के समान समझकर पूजा करता है उसके घर में लक्ष्मी निवास करती है।

8 जो व्यक्ति अपवित्र नहीं रहता, मैले वस्त्र धारण नहीं करता है, शरीर को दुर्गन्धयुक्त नहीं बनाता, चित्त में चिन्ता या दुख नहीं रखता, उसके घर में निश्चय ही लक्ष्मी निवास करती है।

9 जहां गृहस्वामिनी का सम्मान नहीं होता है, गृह लक्ष्मी उस घर को त्याग देती है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You