राजनितिज्ञ समाज में बड़ा बनने चाहते हैं तो....

  • राजनितिज्ञ समाज में बड़ा बनने चाहते हैं तो....
You Are HereDharm
Saturday, March 08, 2014-7:31 AM

बाइबल

फरीसियो धिक्कार तुम लोगों को क्योंकि तुन पुदीने, रास्ने और हर प्रकार के साग का दशमांश तो देते हो लेकिन न्याय और ईश्वर के प्रति प्रेम की उपेक्षा करते हो। तुम सभागृहों में प्रथम आसन और बाजारों में प्रणाम चाहते हो। धिक्कार तुम लोगों को क्योंकि तुम उन कब्रों के समान हो जो दिखाई नहीं पड़तीं और जिन पर लोग अंजाने ही चलते फिरते रहते हैं। शास्त्रियों धिक्कार तुम लोगों को भी क्योंकि तुम मनुष्यों पर बहुत से भारी बोझ लादते हो और स्वयं उन्हें उठाने के लिए अपनी एक उंगली भी नहीं लगाते।

                                                                                                                                                                       -संत लूकस 11:42

जो तुम लोगों में बड़ा होना चाहता है वह तुम्हारा सेवक बने। और जो तुम में प्रधान होना चाहता है वह सबका दास बने।

                                                                                                                                                                      -मारकुस 10:43,45

जो देश तेरे परमेश्वर ने तुझे दिया है, उसमें कोई दरिद्र हो, तो अपने उस दरिद्र भाई के लिए न तो अपना ह्रदय कठोर करना और न अपनी मुट्ठी कड़ी करना। व्यवस्थाविवरण 15:7-11
 
सामाजिक न्याय का अर्थ है सभी मनुष्यों के लिए समान अधिकार और  सभी को बराबरी का हक। ईसा के समय भी समाज कई वर्गों में बंटा था। फरीसी और शास्त्री अपने को सबसे ऊपर समझते थे। ईसा ने ऐसे लोगों को फटकारा और उनके कृत्यों की निंदा की।  उनका कहना था कि समाज में बड़ा बनने के लिए दूसरों का सेवक बनना पड़ेगा।

व्यवस्था विवरण में कहा गया है कि ईश्वर अनाथों और विधवाओं का न्याय करता और परदेसियों से प्रेम करता है, उन्हें भोजन और वस्त्र देता है। इसलिए तुम भी परदेसियों से प्रेमभाव रखना। प्रत्येक मनुष्य का कर्तव्य है कि वह मानवता के नाते सबका सम्मान करे। समाज के दबे कुचले लोगों को उनका हक दिलाने के लिए काम करे क्योंकि ईश्वर भी एक दिन हमारे कर्मों का हिसाब लेगा और हमसे जवाब मांगेगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You