नारी शक्ति के प्रतीक हैं नवरात्र

  • नारी शक्ति के प्रतीक हैं नवरात्र
You Are Heremiscellaneous
Friday, April 04, 2014-8:12 AM

भारत एकमात्र ऐसा देश है जहां नारी शक्ति की भी उपासना की जाती है। वैसे सभी धर्मों में ईश्वर से लेकर गॉड तक की उपासना होती है अर्थात भगवान को पुरुष रूप में ही देखा जाता है।

मां दुर्गा के रूप और अवतार तो अनेक हैं। इनके नौ रूपों में मातेश्वरी को सबसे अधिक धार्मिक महत्व दिया गया है।  धन-धान्य की देवी महालक्ष्मी तथा बुद्धि और विकास की देवी सरस्वती इनके मुख्य रूप हैं।

धर्म शास्त्रों के अनुसार कहा जाता है कि जब भी धरती पर पाप का घड़ा भर जाता है तो मां कभी दुर्गा रूप में तो कभी काली रूप में और कभी चंडी रूप में अवतरित होकर पापों तथा पापियों का नाश करती हैं तथा धरती को पापियों के बोझ से मुक्त करती हैं।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You