त्यौहारों का महीना कार्तिक शुरु, जानें कब आएगा कौन सा Festival

  • त्यौहारों का महीना कार्तिक शुरु, जानें कब आएगा कौन सा Festival
You Are HereDharm
Saturday, October 07, 2017-12:01 PM

त्यौहारों का महीना है कार्तिक मास, साल के 12 महीनों में सबसे अधिक त्यौहार इसी कार्तिक मास में आते हैं, जिनमें सुहागिनों का त्योहार करवाचौथ व्रत, अहोई अष्टमीं व्रत, रमा एकादशी, गोवत्स द्वादशी, धन त्रयोदशी, श्री हनुमान जयंती, नरक चौदस, महालक्ष्मी पूजन, दीवाली, अन्नकूट महोत्सव, गोवर्धन पूजा, भाई दूज, विश्वकर्मा जयंती, षष्ठी पूजन व्रत, अक्षय नवमी, देवप्रबोधिनी एकादशी, तुलसी विवाह, भीष्मपंचक, वैकुण्ठ चतुर्दशी, कार्तिक पूर्णिमा, पुष्कर स्नान, श्री गुरु नानक देव जी की जयंती आदि प्रमुख हैं। 


जानें, अक्तूबर महीने के व्रत-त्यौहार आदि 


10: अक्तूबर : मंगलवार : गुरु (तारा) पश्चिम में अस्त और 7 नवंबर को पूर्व में उदय होगा, स्कंदषष्ठी व्रत


12: वीरवार : अहोई अष्टमी व्रत (अहोई माता का व्रत), मासिक काल अष्टमी व्रत, श्री राधा कुंड स्नान


15: रविवार : रमा एकादशी व्रत, रमा एकादशी व्रत


16: सोमवार : गोवत्स द्वादशी


17: मंगलवार : धन त्रयोदशी, धनतेरस, भौम प्रदोष व्रत, दोपहर 12 बज कर 35 मिनट पर सूर्य तुला राशि में प्रवेश करेगा, सूर्य की तुला संक्रांति एवं  कार्तिक महीना प्रारंभ, संक्रांति का पुण्यकाल सारा दिन, श्री धनवंतरी जी की जयंती, यम प्रीत्यर्थम दीपदान (सायं समय घर के बाहर दीपदान), श्री संगमेश्वर महादेव अरुणाय (पिहोवा, हरियाणा) के शिव त्रयोदशी पर्व की तिथि, मेला श्री भैणी साहिब (लुधियाना)


18: बुधवार : श्री राम जी की भक्ति एवं सेवा में सदैव लीन रहने वाले रामभक्त श्री हनुमान जी की जयंती, नरक चतुर्दशी, नरक चौदश, रूप चौदश, काली चतुर्दशी, यमाय तर्पण एवं दीपदान (चतुर्दशी में सायं समय घर के बाहर दीपदान), मासिक शिवरात्रि व्रत, मेला काली बाड़ी (शिमला) एवं पर्वत मेला मंडी (हिमाचल)


19: वीरवार : दीपावली महापर्व, दीवाली महोत्सव, सायं समय देवालय-मंदिर आदि तीर्थ स्थानों पर दीप दान के बाद घर में दीए आदि प्रज्वलित करें, श्री महालक्ष्मी पूजा, श्री गणेश पूजा, कुबेर पूजा, काली जी की पूजा, स्नान आदि की कार्तिक अमावस, मेला दीवाली अमृतसर, महर्षि दयानंद सरस्वती जी का एवं स्वामी श्री महावीर जी का निर्वाण दिवस (जैन), श्री महालक्ष्मी पूजा सायं प्रदोष काल में 5 बज कर 48 मिनट से प्रारंभ हो जाएगी, श्री कमला जयंती, स्वामी श्री रामतीर्थ जी का जन्म एवं निर्वाण दिवस, ऋषि बोध उत्सव


20: शुक्रवार : अन्नकूट, गोवर्धन पूजा, बलि पूजा, गोक्रीड़ा सायं समय, श्री विश्वकर्मा दिवस (पंजाब), कार्तिक शुक्ल पक्ष प्रारंभ


21: शनिवार : चंद्र दर्शन, भाई दूज, टिक्का, भ्रातृ द्वितीया, यम द्वितीया, यमुना स्नान, श्री विश्वकर्मा जयंती एवं पूजन, आचार्य श्री तुलसी जी का जन्म दिवस (जैन), श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी को गुरुयाई मिली दिवस, चित्रगुप्त जी की पूजा

22: रविवार: मुसलमानी महीना सफर शुरू


23:  सोमवार : सिद्धि विनायक श्री गणेश चतुर्थी व्रत, दूर्वा गणपति व्रत,सूर्य ‘सायण’ वृश्चिक राशि में प्रवेश करेगा, हेमंत ऋतु प्रारंभ, राष्ट्रीय महीना कार्तिक प्रारंभ


24: मंगलवार : नाग व्रत


25: बुधवार : ज्ञान पंचमी (जैन), पांडव पंचमी, सौभाग्य पंचमी, जया पंचमी


26: वीरवार : सूर्य षष्ठी व्रत, डाला छठ, सूर्य छठ महापर्व (बिहार आदि में प्रसिद्ध)


28: शनिवार : श्री दुर्गा अष्टमी व्रत, गोप अष्टमी, गोपूजा, गाय श्रृंगार


29: रविवार : आरोग्य नवमी, कुष्मांड नवमी, अक्षय नवमी, मथुरा परिक्रमा, श्री विष्णु त्रिरात्रि प्रारंभ, विष्णु प्रतिमा सहित तुलसी जी की पूजा, सायं 5 बज कर 59 मिनट पर पंचक प्रारंभ


31: अक्तूबर : मंगलवार: देव प्रबोधिनी (हरि प्रबोधिनी) एकादशी व्रत, संन्यासियों का चातुर्मास व्रत, नियम आदि समाप्त, श्री तुलसी विवाह उत्सव प्रारंभ, देव-उत्थान एकादशी, भीष्म पंचक,  प्रारंभ, मेला कपाल मोचन जी (यमुना नगर), प्रारंभ, श्री पंढरपुर यात्रा (महाराष्ट्र), मेला हरि प्रयाग-शिमला, मेला रेणुका तीर्थ जी नाहन, मेला बाबा रुद्रानंद नारी (ऊना), मेला धनेश्वर सिरमौर (हिमाचल),  कविकुल गुरु कालीदास जी की जयंती, लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल जी की जयंती।
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You