शनिवार का गुडलक देगा नि:संतान दंपति को संतान

You Are HereDharm
Saturday, August 12, 2017-9:02 AM

शनिवार दिनांक 12.08.17 को भाद्रपद नाग पंचमी का पर्व मनाया जाएगा। पंचमी तिथि के स्वामी सर्प माने जाते हैं। पंचांग का छठा महीना भाद्रपद श्याम वर्ण को समर्पित है। भाद्रपद महीने की कृष्ण पक्ष की पंचमी तिथि काले नागों को समर्पित है। पंचमी तिथि को भूमि खोदना वर्जित है। भगवान शंकर के गले में स्थान पाने वाले कर्कोटक नाग की हिन्दू धर्म में पूजा की जाती है। स्कंद पुराण के अनुसार भाद्रपद नाग पंचमी पर नागों की पूजा करने से व्यक्ति की सारी मनोकामनाए पूर्ण होती हैं। सर्पदंश से रक्षण के साथ-साथ सुहाग व संतान को लंबी उम्र मिलती है। तथा नि:संतान दंपति को संतान प्राप्त होती है।

विशेष पूजन: शिवालय में तेल का दीपक करें, लोहबान धूप करें, काजल चढ़ाएं, बरगद का पत्ता चढ़ाएं, खीर का भोग लगाएं। इस विशिष्ट मंत्र को 108 बार जपें। पूजन उपरांत किसी काली गाय को खीर खिलाएं। 

विशेष मंत्र: ॐ नागेश्वराय नमः॥

विशेष मुहूर्त: शाम 03:25 से शाम 04:25 तक।

महूर्त विशेष
अभिजीत मुहूर्त: दिन 11:59 से 12:52 तक।
अमृत काल: रात 03:29 से प्रातः 05:03।
यात्रा महूर्त: दिशाशूल - पूर्व, राहुकाल वास - पूर्व। अतः आज पूर्व दिशा की यात्रा टालें।

आज का गुडलक ज्ञान
गुडलक कलर: नीला।

गुडलक दिशा: पश्चिम।

गुडलक टाइम: शाम 04:25 से शाम 05:25 तक।

गुडलक मंत्र: ॐ अनन्ताय नमः॥

गुडलक टिप: दुर्भाग्य से मुक्ति हेतु 1 लौंग सिर से वार कर जला दें।

गुडलक फॉर बर्थडे: काले शिवलिंग पर तिल के तेल का दीपक करने से व्यवसाय में सफलता मिलेगी।

गुडलक फॉर एनिवर्सरी: दंपति किसी काली गाय को भिगोए हुए काले उड़द खिलाएं इससे प्रेम बना रहेगा।
आचार्य कमल नंदलाल
ईमेल: kamal.nandlal@gmail.com

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You