शेख हसीना हमला मामला: आतंकवादी को बीएनपी सरकार ने दी थी सुरक्षा

  • शेख हसीना हमला मामला: आतंकवादी को बीएनपी सरकार ने दी थी सुरक्षा
You Are HereInternational
Wednesday, August 21, 2013-5:28 PM

ढाका: 2004 में तत्कालीन विपक्षी नेता शेख हसीना पर ग्रेनेड से हमला करने वाले मुख्य संदिग्ध को तत्कालीन बीएनपी-जमात सरकार ने सुरक्षा प्रदान की थी। हमले की आज नवीं सालगिरह है जिसमें 24 लोग मारे गए थे। आरएबी के पूर्व उप निदेशक मेजर (सेवानिवृत्त) अतीकुर रहमान ने ढाका की एक अदालत में बताया ‘हमारी पूछताछ में हुजी (हरकत-उल-जिहाद) के प्रमुख मुफ्ती अब्दुल हन्नान ने इस हमले में शामिल होने की बात स्वीकार की लेकिन हम उसका बयान अदालत में दर्ज नहीं करा सके।’

उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री खालिदा जिया के बड़े बेटे तारिक रहमान और तत्कालीन गृह राज्यमंत्री लुत्फुजामान बाबर ने आरएबी को ग्रेनेड हमले के आरोप में गिरफ्तार प्रतिबंधित इस्लामी संगठन के प्रमुख के खुलासे को उजागर नहीं करने का निर्देश दिया था। हत्या की साजिश का मुख्य निशाना हसीना थी जो हमले में बाल-बाल बच गई जबकि इस हमले के कारण मारे गए लोगों में पार्टी की महिला मोर्चा प्रमुख और पूर्व राष्ट्रपति जिल्लुर रहमान की पत्नी आइवी शामिल थी।

ढाका शहर के बंगबंधु एवेन्यु में पार्टी के मुख्य कार्यालय के सामने अवामी लीग रैली के दौरान हमलावरों द्वारा 13 ‘आर्गेस’ ग्रेनेडों से किए गए विस्फोट के कारण 300 से अधिक लोग घायल हो गए थे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You