'12 सालों तक बना रहेगा आतंकवाद का खतरा'

  • '12 सालों तक बना रहेगा आतंकवाद का खतरा'
You Are HereInternational
Friday, August 23, 2013-4:57 PM

वाशिंगटन: पद छोडऩे जा रहे एफबीआई के निदेशक रॉबर्ट मुलर ने कहा है कि आतंकवाद का खतरा आगे भी बरकरार रहेगा किंतु इसकी प्रकृति में बदलाव होगा।  मुलर ने 11 सितंबर 2001 को न्यूयार्क पर हुए आतंकवादी हमले के बाद एफबीआई प्रमुख का पद संभाला था।

कई अमेरिकी मीडिया हाउसों के अनुसार, 12 वर्ष बाद चार सितंबर को पद छोडऩे जा रहे एफबीआई के शीर्ष अधिकारी ने कहा, ‘‘मेरे विचार से इसमें परिवर्तन होगा। 11 सितंबर के बाद आपके पास ओसामा बिन लादेन के साथ ही पाकिस्तान और अफगानिस्तान में अलकायदा था। लादेन मारा जा चुका है। अल कायदा सोमालिया जैसे देशों में जड़ें जमा रहा है लेकिन उसकी गतिविधयों में सबसे अधिक वृद्धि यमन में हो रही है।’’

मुलर ने कहा कि यमन के बाहर भी पर्याप्त खतरा है। अब अरब जगत में बदलाव हो रह है और ट्यूनिशिया, लीबिया, सीरिया व मिस्र जैसे देशों में कट्टरवादी संगठनों के बढऩे का खतरा है।

आतंकवाद से लडऩे की एक प्रमुख एजेंसी एफबीआई को नया रूप देने की जिम्मेदारी संभालने वाले मुलर के अनुसार अमेरिका के भीतर भी आतंकवादी खतरा है। उन्होंने कहा, ‘‘देश के भीतर भी कट्टरवादी तत्व हैं जो इंटरनेट पर विस्फोटकों का निर्माण सीखते हैं।’’

मुलर को रिपब्लिकन राष्ट्रपति जॉर्ज बुश ने नियुक्त किया था और डेमोक्रेट राष्ट्रपति बराक ओबामा ने उनका कार्यकाल बढ़ाने का फैसला किया। कांग्रेस ने भी आमतौर पर अधिकतम 10 वर्ष के  कार्यकाल के बदले उन्हें कार्यकाल विस्तार देने को मंजूरी दी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You