मुर्दाघर में रहने को मजबूर डाक्टर

  • मुर्दाघर में रहने को मजबूर डाक्टर
You Are HereInternational
Wednesday, August 28, 2013-5:41 PM

कोलंबो: उत्तर पश्चिम श्रीलंका के एक गांव में तैनात एक सरकारी डाक्टर रहने के लिए आवास नहीं मिलने के कारण एक वर्ष से मुर्दाघर में रहने को मजबूर है। मुर्दाघर में रहने के बावजूद स्थानीय लोगों में उसका अच्छा सम्मान है। वह कुरूनेगाला जिले के गिरिबावा उपखंड के पेराकुमपुरा गांव में तैनात है। सरकारी आवास नहीं उपलब्ध होने के कारण डाक्टर के पास ‘मुर्दाघर’ की इमारत में रहने के अलावा कोई चारा नहीं है।

सीलोन टूडे ने स्थानीय लोगों से यह खबर तो दी है, लेकिन डाक्टर का नाम नहीं बताया है। अस्पताल ने कर्मचारियों ने शिकायत की कि इस इमारत की हालत बहुत ही खस्ता है। छत, खिडकियां और दरवाजे टूटे हुए हैं। जब बारिश होती है तो पूरी इमारत टपकती है और भीतर जगह जगह पानी लग जाता है। यह डाक्टर मुर्दाघर में रहकर जिस तरह बीमारों का इलाज कर रहा है, उससे वह बहुत ही लोकप्रिय हो गया है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You