अमेरिका ने की श्रीलंका के विभिन्न पक्षों से हिंसा से बचने की अपील

  • अमेरिका ने की श्रीलंका के विभिन्न पक्षों से हिंसा से बचने की अपील
You Are HereInternational
Saturday, September 21, 2013-10:22 AM

वाशिंगटन:  श्रीलंका के तमिल बहुल उत्तरी प्रांत में होने वाले ऐतिहासिक चुनावों से पहले तनाव की खबरों पर चिंता जताते हुए अमेरिका ने शुक्रवार को सभी पक्षों से हिंसा से दूर रहने और शांतिपूर्ण, स्वतंत्र तथा पारदर्शी चुनाव प्रक्रिया सुनिश्चित करने की अपील की। विदेश मंत्रालय में दक्षिण और मध्य एशियाई मामलों के ब्यूरो के प्रवक्ता मार्क थोर्नबर्ग ने कहा, ‘‘हम श्रीलंका में सभी पक्षों से अपील करते हैं कि वे शांतिपूर्ण, स्वतंत्र और पारदर्शी चुनाव प्रक्रिया सुनिश्चित करें, ताकि मतदाताओं को अपनी पसंद के प्रतिनिधि चुनने का पूरा अवसर मिले।’’

थोर्नबर्ग ने प्रेस ट्रस्ट से कहा, ‘‘उत्तरी प्रांत परिषद के ऐतिहासिक चुनावों से पहले आई हिंसा की खबरों से अमेरिका बेहद चिंतित है। हम इन घटनाओं की पारदर्शी और स्वतंत्र जांच तथा साजिशकर्ताओं को सजा दिलाने की मांग करते हैं।’’ सेना द्वारा लिट्टे को हराने के चार साल बाद इस पूर्व युद्धक्षेत्र में शासन व्यवस्था लाने वाली परिषद चुनने के लिए 25 साल में पहली बार आज लगभग 7,15,000 लोग अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे।

थोर्नबर्ग ने कहा, ‘‘लोकतंत्र का अर्थ सिर्फ चुनावों तक सीमित नहीं है, बल्कि यह सुनिश्चित किया जाना जरूरी है कि श्रीलंका में सभी समुदायों के लोग शांति और सम्मान से रह सकें ।’’ इसी बीच दक्षिण एशिया के एक प्रसिद्ध अमेरिकी विशेषज्ञ ने कहा कि चुनाव एक ऐसा कदम है जो देश के बहुसंख्यक सिंहलियों और अल्पसंख्यक तमिल जनता के बीच फिर से सामंजस्य पैदा कर सकता है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You