तुर्की को यूरोपीय संघ की सदस्यता मिलने की संभावना नहीं

  • तुर्की को यूरोपीय संघ की सदस्यता मिलने की संभावना नहीं
You Are HereInternational
Thursday, October 03, 2013-1:23 PM

ब्रुसेल्स:  तुर्की को यूरोपीय संघ का सदस्य बनाने का ब्रिटेन ह्नरबल समर्थक है, किन्तु संघ के अन्य देश मुस्लिम देश होने के नाते उसकी सदस्यता से आशंकित हैं और इसके चलते लम्बे समय से सदस्यता का उसका आवेदन लंबित है। इसके ऊपर यूरोपीय संघ निर्णय नहीं ले पा रहा है। लेकिन तुर्की अब इसके विकल्प पर विचार कर रहा है और वह संघ की वैकल्पिक सदस्यता के लिए आवेदन कर सकता है, ताकि वह संघ से आर्थिक संबंध जोड़ सके। यह जानकारी आज तुर्की के अधिकारियों ने दी।

तुर्की इस आधार पर यूरोपीय संघ में शामिल होना चाहता है कि वह एक उभरती आर्थिक तथा राजनीतिक शक्ति है और संघ का सदस्य देश बनकर वह उसके और एशिया तथा मध्य पूर्व के बाजारों के बीच सेतु का काम कर सकता है। लेकिन 20 सदस्यीय यूरोपीय संघ में अगर किसी नये देश को शामिल किया जाता है, तो वह छह बालकन देशों में से एक हो सकता है। इनमें से पांच अब भी यूगोस्लाविया का हिस्सा है। लगता है कि तुर्की की सदस्यता प्रमुख देशों के विरोध के कारण अगले तीन वर्ष के लिए ठंडे बस्ते में डाल दी गई है। जर्मनी, फ्रांस तथा आस्ट्रिया जैसे देश तुर्की को यूरोपीय संघ में शामिल किए जाने के विरोधी है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You