गांधी जी का चरखा 1,10,000 पौंड में नीलाम हुआ

  • गांधी जी का चरखा 1,10,000 पौंड में नीलाम हुआ
You Are HereInternational
Wednesday, November 06, 2013-1:20 AM

लंदन: महात्मा गांधी का चरखा आज ब्रिटेन में हुई एक नीलामी में 1,10,000 पौंड में बिका जो अनुमानित मूल्य से करीब दोगुना है। गांधी जी ने ‘भारत छोड़ो आंदोलन’ के दौरान यरवदा जेल में इस चरखे का इस्तेमाल किया था।

श्रापशायर में मलोक नीलामी घर द्वारा ऐतिहासिक दस्तावेजों व शिल्पकृतियों की विशेष नीलामी में गांधी जी का वसीयतनामा भी 20,000 पौंड में बिक गया। मलोक के एक अधिकारी माइकल मोरिस ने प्रेट्र को बताया, ‘‘ गांधी जी का चरखा 1,10,000 पौंड में नीलाम हुआ, जबकि उनका वसीयतनामा 20,000 पौंड में नीलाम हुआ।’’ चरखे के लिए न्यूनतम बोली 60,000 पौंड की लगी।

गांधी जी ने पुणे में जेल में रहते हुए इस चरखे का इस्तेमाल किया था और बाद में इसे अमेरिकन फ्री मेथोडिस्ट मिशनरी रेव्ड फ्लायड ए पफर को उपहार स्वरूप दे दिया था। गांधी जी का वसीयतनाम साबरमती आश्रम में गुजराती में लिखा गया था और यह अत्यधिक महत्वपूर्ण दस्तावेज है जो 1921 के समय का है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You