मानवाधिकार समूह ने हमलावरों को अधिकतम सजा देने की मांग की

  • मानवाधिकार समूह ने हमलावरों को अधिकतम सजा देने की मांग की
You Are HereInternational
Tuesday, December 10, 2013-4:34 PM

न्यूयार्क: एक मानवाधिकार समूह ने पिछले वर्ष एक सिख टैक्सी चालक पर निर्दयता से हमला करने के दोषी सीएटल के एक व्यक्ति को अधिक से अधिक सजा देने की मांग करते हुए कहा है कि इससे यह स्पष्ट संदेश जाएगा कि नस्ली नफरत से प्रेरित हिंसा ‘‘अस्वीकार्य’’ है।

सीएटल में अमेरिकी डिस्ट्रिक्ट कोर्ट ने इस वर्ष जून में जैमी लार्सन (49)को 50 वर्षीय एक सिख व्यक्ति पर हमला करने का दोषी ठहराया था। लार्सन को आज सजा सुनाई जाएगी और उसे अधिकतम 10 वर्ष कारावास की सजा हो सकती है।

कौंसिल ऑन अमेरिकन इस्लामिक रिलेशंस (सीएआईआर)ने कहा, ‘‘अपराधी को अधिकतम सजा देने से लोगों में यह स्पष्ट संदेश जाएगा कि नस्ली घृणा के कारण की गई हिंसा अस्वीकार्य है और ऐसा करने पर सजा दी जाएगी।’’

लार्सन के खिलाफ इस वर्ष अप्रैल में मामला दर्ज किया गया था, जिसमें आरोप लगाया गया था कि उसने अक्तूबर 2012 में एक भारतीय सिर पर उनकी नस्ल, उसके रंग और मूल राष्ट्र के कारण हमला किया था।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You