मां की दर्द भरी दास्तां, 40 वर्षों से पिंजरे में कैद है बेटा

  • मां की दर्द भरी दास्तां, 40 वर्षों से पिंजरे में कैद है बेटा
You Are HereInternational
Saturday, December 14, 2013-1:08 PM

बीजिंग: चीन में एक मां ने 40 वर्ष से भी अधिक समय से अपने बेटे को पिंजरे में कैद करके रखा है। चीन के हेनान प्रांत की राजधानी झेंगझोऊ में रहने वाली महिला वेइमी ने पिछले 40 वर्ष से अपने बेटे पेंग वेइजिंग को पिंजरे में कैद करके रखा हुआ है। पिंजरे में कैद इस व्यक्ति की आयु 48 वर्ष है और वह 6 वर्ष की उम्र से कैद में है।

वेइमी बताती है कि यह सब उन्होंने अपनी खुशी के लिए नही किया, बल्कि परिस्थितियों से मजबूर होकर उन्हें अपने बेटे को पिंजरे में कैद करना पड़ा। दरअसल जब बेटा 6 वर्ष का था। उस वक्त उसे तेज बुखार आया और इसके बाद से मिर्गी के दौरा पडऩे लगे।

आर्थिक तंगी के कारण इलाज नहीं करा पाने और वह अपने आप को चोट न पहुंचा ले इस डर से वेइमी के पति ने एक     पिंजरा तैयार किया और बेटे को उसमें बंद कर दिया। बेटे की उम्र बढऩे के साथ ही पिता ने पिंजरे का आकार भी बढ़ाना शुरू कर दिया।

80 वर्षीय वेइमी कहती है, "जब वेइजिंग छोटा था वह चाकू या कांच से खुद को नुकसान पहुंचा लिया करता था। अक्सर चलते-चलते वह गिर जाता था और उसके शरीर में चोट लग जाती थी। जगह-जगह से खून निकलने लगता था। वेइमी कहती है कि वेइजिंग का अपने शरीर पर कोई नियंत्रण नहीं रहता था, जिसके बाद उसे पिंजरे में रखने का निर्णय लेना पड़ा।"

40 वर्षों से बेटे की देखभाल करने वाली इस 80 वर्षीय मां को अब यह चिंता सता रही है कि उनकी मौत के बाद उसके बेटे का क्या होगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You