नेपाली छात्रों को लुभा रहे हैं भारतीय स्कूल

  • नेपाली छात्रों को लुभा रहे हैं भारतीय स्कूल
You Are HereInternational
Sunday, December 22, 2013-3:50 PM

काठमांडू: प्रमुख भारतीय स्कूल प्रारम्भिक शिक्षा से उच्च स्तरीय शिक्षा तक नेपाली छात्रों को लुभाने में लगे हुए हैं। नेपाल सरकार के आंकड़ों के मुताबिक, हर साल कम से कम 10 हजार नेपाली छात्र शिक्षा मंत्रालय से भारतीय शिक्षा संस्थानों में उच्च शिक्षा हासिल करने के लिए अनापत्ति प्रमाणपत्र लेते हैं।

नेपाल और भारत के बीच सांस्कृतिक समानता, खुली अंतर्राष्ट्रीय सीमा, सीमा पार करने के लिए वीजा की जरूरत का नहीं होना और आसानी से एक-दूसरे देश में पहुंचने की सुविधा के कारण प्रारम्भिक शिक्षा से उच्च शिक्षा तक नेपाली छात्रों को भारत में शिक्षा हासिल करने में सुविधा होती है।

1996 से 2006 में नेपाल में राजनीतिक अस्थिरता के चलते बड़ी संख्या में नेपाली छात्र भारत में पढऩा पसंद करते थे। अब हालांकि राजनीतिक स्थिरता वापस आ चुकी है और नेपाल में आर्थिक विकास दर पांच फीसदी तक पहुंच चुकी है, तब भी बड़ी संख्या में नेपाली अभिभावक अपने बच्चों को भारतीय शिक्षण संस्थानों में भेजना पसंद करते हैं।

काठमांडू में शुक्रवार से शुरू हुए 10वें भारत अंतर्राष्ट्रीय प्रमुख स्कूल प्रदर्शनी में 35 भारतीय स्कूल नेपाली छात्रों को तत्काल दाखिला सहित कई तरह की सुविधाएं दे रहे हैं। भारत में चौथी कक्षा में अपने बच्चे का दाखिल कराने को उत्सुक प्रकाश सुबेदी ने आईएएनएस से कहा कि नेपाली छात्र भारत में प्रारंभिक से लेकर उच्च शिक्षा तक से पहले से परिचित हैं, लेकिन ऐसी प्रदर्शनियां कम ही आयोजित होती हैं, जिनमें नेपाली अभिभावक सीधे स्कूल प्रबंधन से बात कर सकें।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You