मुशर्रफ देशद्रोह मामला: बम मिलने से सुनवाई टली

  • मुशर्रफ देशद्रोह मामला: बम मिलने से सुनवाई टली
You Are HereInternational
Tuesday, December 24, 2013-2:30 PM

इस्लामाबाद: पूर्व पाकिस्तानी सैन्य शासक परवेज मुशर्रफ के खिलाफ राजद्रोह के मामले पर सुनवाई आज उस समय टाल दी गई, जब विशेष अदालत तक आने वाले उनके रास्ते पर विस्फोटक पाए गए। कार्यवाही की शुरूआत पर मुशर्रफ के वकील अनवर मंसूर ने विशेष अदालत के गठन और अभियोजक की नियुक्ति पर एतराज जताया। उन्होंने कहा कि पूर्व राष्ट्रपति सुरक्षा खतरों के चलते अदालत नहीं आ सकते।

अदालत ने मंसूर से कहा कि वह अलग से एक याचिका दायर करें कि क्या 70 वर्षीय मुशर्रफ को सुरक्षा खतरा है। इसके बाद उन्होंने कार्यवाही रोक दी। इससे पहले, आज सुबह में 5 किलोग्राम वजन का एक बम और दो भरी हुई बंदूकें उस रास्ते से बरामद की गईं, जिससे मुशर्रफ आने वाले थे।

सुरक्षा जांच के दौरान, पाकिस्तानी रेंजर्स ने बम नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ के पास से बरामद किया। टीवी फुटेज में दो काली पिस्तौल और एक बम दिखाया गया। बहरहाल, बम निष्क्रिय था। मुशर्रफ के खिलाफ सुनवाई नेशनल लाइब्रेरी में हो रही है, जो अत्यंत सुरक्षा वाले क्षेत्र रेड जोन में स्थित है। इस जोन में प्रधानमंत्री निवास, सुप्रीम कोर्ट और डिप्लोमेटिक एन्क्लेव जैसे अहम प्रतिष्ठान हैं।

राजद्रोह के मामले से निकलने की मुशर्रफ की कोशिश को कल उस समय एक बड़ा झटका लगा, जब एक पाकिस्तानी अदालत ने उनके खिलाफ मामला चलाने के लिए गठित विशेष अदालत पर उनके एतराज कल रद्द कर दिए। यह पाकिस्तान के इतिहास में पहला मौका है, जब कोई सैन्य तानाशाह राजद्रोह में किसी मुकदमे का सामना कर रहा है।
 
उल्लेखनीय है कि दोषी ठहराए जाने पर मुशर्रफ को सजा-ए-मौत या उम्रकैद की सजा भुगतनी पड़ सकती है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You