यूक्रेन ने सुरक्षित सैन्य बल बुलाया, पश्चिमी देशों ने रूस को चेताया

  • यूक्रेन ने सुरक्षित सैन्य बल बुलाया, पश्चिमी देशों ने रूस को चेताया
You Are HereInternational
Sunday, March 02, 2014-7:33 PM

कीव: यूक्रेन ने आज विपदा के मुहाने पर खड़े होने की चेतावनी देते हुए अपने सुरक्षित सैन्य बल को बुलाया है। यूक्रेन ने यह कदम ऐसे समय उठाया जब रूस ने अपने इस पड़ोसी देश पर धावा बोलने की धमकी दी जिसकी अमेरिका और नाटो ने कड़ी आलोचना की है। ताजा घटनाक्रम शीतयुद्ध के काल के बाद मास्को और पश्चिमी देशों के बीच अब तक का सबसे बड़ा संकट पैदा कर सकता है क्योंकि क्रेमलिन समर्थित बलों ने रूसीभाषी बहुल क्रीमियाई प्रायद्वीप में प्रमुख सरकारी इमारतों और हवाई अड्डों पर नियंत्रण हासिल कर लिया।

रूस की संसद ने कल राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को अपने सैनिक पड़ोसी देश में भेजने की अनुमति दे दी। हालांकि अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने इस फैसले को ‘‘यूक्रेन की संप्रभुता का उल्लंघन करार दिया।’’ नाटो प्रमुख ने घोषणा की कि यूक्रेन में रूस की कार्रवाई यूरोप की शांति और सुरक्षा के लिए खतरा है। यूक्रेन के नए पश्चिम जगत समर्थित प्रधानमंत्री अर्सेनीय यात्सेनयुक ने भी चेताया कि किसी भी तरह के आक्रमण ‘‘का मतलब युद्ध और दोनों देशों के बीच सभी तरह के रिश्ते समाप्त होना होगा।’’

यात्सेनयुक ने टीवी पर देश को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘हम आपदा के मुहाने पर खड़े हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह धमकी नहीं है। यह मेरे देश के खिलाफ युद्ध की घोषणा है।’’ इस संकट पर वैश्विक नेताओं की आपात बैठकों के बीच, मास्को समर्थित बंदूकधारियों ने काला सागर में स्थित प्रायद्वीप के बड़े हिस्से में नियंत्रण हासिल कर लिया। चश्मदीदों ने कहा कि रूस के सैनिकों ने पूर्वी क्रीमिया के बंदरगाह शहर फियोदोसिया में अपने सैन्य अड्डे पर यूक्रेन के करीब 400 मरीनों को रोक दिया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You