दुनिया की सबसे महंगे मोबाइल फोन बनाने वाली कम्पनी VERTU होगी बंद

You Are HereInternational
Friday, July 14, 2017-1:11 PM

जालंधर: ब्रिटिश लग्जरी फोन निर्माता कम्पनी वीर्टू (VERTU) ने यूके में लगे अपने प्लाट में निर्माण कार्य बंद कर दिए हैं जिससे 200 कर्मचारियों की नौकरी खतरे में पड़ गई है। अंग्रेजी अखबार द टेलीग्राफ की रिपोर्ट के मुताबिक कम्पनी कुछ समय से बिलों के भुगतान व कर्मचारियों को तनख्वाह नहीं दे रही थी जिस वजह से अब कर्मचारियों को नौकरी से हाथ धोने का डर सता रहा है। व्यापारी हकान उज़ान के नेतृत्व में चल रही वीर्टू कम्पनी पर 128 मिलियन पाउंड का कर्ज चढ़ा हुआ है जिसमें से उसने लेनदारों को 2.5 मिलियन डॉलर देने की पेशकश की है। 

 

वीर्टू के प्रवक्ता ने द टेलीग्राफ को बताया कि हमारी तरफ से अच्छा प्रयास करने के बाद भी हमारा एडमिनिस्ट्रेशन फेल हो गया है। कम्पनी फिलहाल पूरी तरह से बंद तो नहीं हुई है लेकिन द फाइनेंशियल टाइम्स द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक भविष्य में कम्पनी को एक बार फिर दूसरे नाम से लॉन्च किया जा सकता है। उल्लेखनीय है कि यह कम्पनी काफी समय से माइक्रोसॉफ्ट व क्वालकॉम को भुगतान नहीं कर रही थी और अब कर्मचारियों को तनख्वाह ना देने की खबरों के बाद कम्पनी की गुडविल यानी साख पर काफी बुरा असर पड़ा है।

PunjabKesari

2003 में पेश किया था पहला मोबाइल फोन
वीर्टू ने वर्ष 2003 में अपना पहला स्मार्टफोन सिग्नेचर पेश किया था। इस फोन में 5 कैरेट रूबी नग लगे हुए थे। 

वीर्टू सिग्नेचर -

PunjabKesari

इसके बाद कम्पनी ने नोकिया ई72 का गोल्ड वेरिएंट पेश किया जिसकी कीमत करीब 1 लाख 44 हजार रुपए रखी गई थी। 

वीर्टू नोकिया ई72 -

PunjabKesari

कुछ सालों बाद वीर्टू ने सिग्नेचर का टच स्क्रीन वाला वेरिएंट भी बाजार में उतार दिया जिसकी कीमत करीब 6 लाख 63 हजार रुपए रखी गई थी।

वीर्टू सिग्नेचर टच स्क्रीन -

PunjabKesari
इन फोन्स में पहली बार गोल्ड, एल्यूमीनियम और टाइटेनियम से बना डिजाइन देखने को मिला जिसने खरीदारी की चाह रखने वाले लोगों को काफी आकर्षित किया।  
 


दुनिया की सबसे बड़ी हैंडमेड मोबाइल निर्माता थी वीर्टू
वीर्टू को फिनिश मोबाइल फोन निर्माता नोकिया द्वारा 1998 में स्थापित किया गया था। यह कम्पनी सबसे बड़ी कम्पनी थी जो हाथ से बनाए हुए मोबाइल्स को बेचा करती थी। अक्तूबर 2012 में नोकिया ने इसे एक प्राइवेट ग्रुप EQT VI को बेच दिया था जिसके बाद इसके शेयरों में 10 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई। आपको जानकर हैरानी होगी कि साल 2013 में कम्पनी के पास करीब 350,000 ग्राहक थे। 2015 में की गई रिसर्च के मुताबिक कम्पनी के फोन 500 रिटेल दुकानों के जरिए बेचे जाते थे जिनमें से 70 कम्पनी की अपनी ही थीं। EQT ने वीर्टू कम्पनी के शेयरों को हांगकांग की कम्पनी गोडिंन होल्डिंग्स को बेच दिया था जो 2017 में असफल साबित हुई। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You