Subscribe Now!

भारत में बनी कारों का निर्यात घटा, तिपहिया का बढ़ा

  • भारत में बनी कारों का निर्यात घटा, तिपहिया का बढ़ा
You Are HereLatest News
Sunday, November 12, 2017-12:37 PM

नई दिल्लीः देश में बनी कारों के निर्यात में कमी आई है। पिछले महीने यानी अक्तूबर में भारत से यात्री कारों का निर्यात 15.58 प्रतिशत घटकर 46,300 इकाई रह गया। यदि सभी तरह के छोटे यात्री वाहनों के निर्यात की बात की जाए तो अक्तूबर 2017 में यह एक साल पहले के मुकाबले 19 प्रतिशत से अधिक घटकर 54,510 इकाई रह गया। हालांकि, इस दौरान तिपहिया निर्यात में 10 प्रतिशत वृद्धि हासिल की गई।

चालू वित्त वर्ष के दौरान अप्रैल से अक्तूबर तक के सात महीने की यदि बात की जाए तो इस दौरान कुल यात्री कार निर्यात 4.13 प्रतिशत घटकर 4,16,602 इकाई रह गया, लेकिन इस दौरान यात्री और सामान ढोने वाले तिपहियों का निर्यात करीब 18 प्रतिशत बढ़कर 2,09,971 इकाई तक पहुंच गया।  भारतीय वाहन विनिर्माताओं के संगठन सियाम के आंकड़ों के अनुसार मौजूदा वित्त वर्ष के अप्रैल से अक्तूबर तक के सात महीने में अकेले यात्री कारों का निर्यात 1.97 प्रतिशत घटकर 3,33,483 वाहन रहा। पिछले साल इसी अवधि में 3,40,198 यात्री कारों का निर्यात किया गया था। भारत से कारों का निर्यात करने वाली प्रमुख कंपनियों में मारुति सुजुकी, फाक्सवैगन, जनरल मोटर्स, हुंदै मोटर, फोर्ड व निसान मोटर शामिल हैं। मौजूदा वित्त वर्ष की पहली छमाही में मारुति सुजुकी ने 54,008 कारों निर्यात किया और वह इस लिहाज से पहले स्थान पर रही।

इस दौरान भारत से वाणिज्यिक वाहनों का कुल निर्यात 28.05 प्रतिशत घटकर 47,650 इकाई रह गया जो कि गत वर्ष इसी अवधि में 66,227 इकाई रहा था।  केवल अक्तूबर महीने में यात्री वाहन खंड का कुल निर्यात 19.32 प्रतिशत घटकर 54,510 वाहन, वाणिज्यिक वाहन खंड का कुल निर्यात 25.44 प्रतिशत घटकर 7624 इकाई रह गया। हालांकि, देश में निर्मित तिपहिया वाहनों का निर्यात अक्तूबर 2017 में करीब 10 प्रतिशत बढ़कर 30,946 इकाई और अप्रैल से अक्तूबर 2017 के सात महीने में करीब 18 प्रतिशत बढ़कर 2,09,971 तिपहिया वाहनों का निर्यात किया गया। तिपहिया वाहन बनाने वाली प्रमुख कंपनियों में बजाज आटो, टीवीएस, महिन्द्रा और टाटा मोटर्स आदि शामिल है।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You