बिहार सियासत में घमासान के बीच अमित शाह ने दिया यह बयान

  • बिहार सियासत में घमासान के बीच अमित शाह ने दिया यह बयान
You Are HereNational
Sunday, July 16, 2017-5:20 PM

नई दिल्ली: बिहार में सत्ताधारी राष्ट्रीय जनता दल और जनता दल यूनाइटेड की गठबंधन सरकार में जारी घमासान के बीच भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने जदयू-भाजपा गठबंधन सरकार के दिनों को याद करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उनके नेतृत्व की तारीफ की। शाह ने कहा कि जब बिहार में भाजपा और नीतीश कुमार की सरकार थी तब हम बिहार को बीमारू राज्य की श्रेणी से लगभग बाहर करने के कगार पर आ चुके थे। शाह ने कहा कि 1980 के दशक में अर्थशास्त्रियों ने बीमारू स्टेट शब्द का प्रयोग किया था, जिन राज्यों की प्रशासनिक व्यवस्था चरमरा गई हो जिसके चलते वहां की अर्थव्यवस्था पटरी से उतर गई थी उन्हे बीमारू राज्य कहा जाता है। इन राज्यो में ‘बी’ से बिहार, ‘एम’ से मध्य प्रदेश, ‘आर से राजस्थान, ‘यू’ से उत्तर प्रदेश है। 

परिवारवाद से देश की राजनीति को हुआ नुकसान
जनसंघ के संस्थापक डा.श्यामा प्रसाद मुखर्जी पर लिखी किताब (श्यामा प्रसाद मुखर्जी- हिज विजन ऑफ एजुकेशन) का उद्घाटन करते हुए उन्होंने यह बात कही। साथ ही उन्होंने कहा कि परिवारवाद, जातिवाद और तुष्टिकरण ने देश की राजनीति का बहुत नुकसान किया है। इतिहासकारों पर आरोप लगाते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि श्यामा प्रसाद मुखर्जी के जीवन, उनके योगदान, विचार और उनकी सिद्धियों को देखें तो इतिहास और उसको लिखने वालों दोनों ने ही उनके साथ अन्याय किया है। साथ ही उन्होंने कहा कि हमारी शिक्षा प्रणाली की सभी खामियां दूर हो जाएंगी अगर हम श्यामा प्रसाद मुखर्जी के विचारों पर अमल करें।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You