काला जादू के आरोप में अनिवासी भारतीय दंपती सउदी अरब में गिरफ्तार

  • काला जादू के आरोप में अनिवासी भारतीय दंपती सउदी अरब में गिरफ्तार
You Are HereInternational News
Monday, October 21, 2013-3:09 PM

केंद्रपाड़ा (ओडिशा): सउदी अरब में एक अनिवासी भारतीय दंपती को काला जादू करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। आधिकारिक सूत्रों ने आज यहां बताया कि ओडिशा के केंद्रपाड़ा शहर के रहने वाले शेख निजाम और नूरजहां कुछ साल पहले सउदी अरब के तुरबा शहर चले गए थे। वहां उन लोगों ने कथित तौर पर दावा किया कि वह बीमारियां दूर कर सकते हैं। पिछले माह इस दंपती को गिरफ्तार कर लिया गया।

जेद्दा स्थित भारतीय महावाणिज्य दूतावास के अनुसार, अधिकारियों ने उनके पास से कथित तौर पर जड़ीबूटियों सहित कुछ अन्य सामग्री बरामद की थी।  दूतावास के सामुदायिक कल्याण अधिकारी राजकुमार ने फोन पर प्रेस ट्रस्ट को बताया, ‘‘जेद्दा के समीप तुरबा शहर में इस दंपती के सउदी नियोक्ता मोहम्मद सफी ने उनके खिलाफ काला जादू करने की शिकायत दर्ज कराई थी।’’

अधिकारी ने बताया कि शेख निजाम और नूरजहां जेल में बंद हैं तथा उनके खिलाफ सउदी कानून के अनुसार सुनवाई हो रही है। दोषी पाए जाने पर उन्हें कम से कम दो साल के सश्रम कारावास की सजा हो सकती है। इस जोड़े के गिरफ्तार होने के बाद उनके किराए के मकान में, उनके छह बच्चे अकेले रह रहे थे और पिछले तीन सप्ताह के दौरान परदेस में उन्हें खासी परेशानी हुई।

इन बच्चों में सबसे बड़े बच्चे की उम्र करीब 12 साल और सबसे छोटे बच्चे की उम्र करीब 18 माह है। फिलहाल ये बच्चे यहां केंद्रपाड़ा में अपने पिता के एक रिश्तेदार के पास रह रहे हैं।  राजकुमार ने बताया ‘‘तुरबा में कुछ स्थानीय लोगों ने बच्चों की देखभाल की और हमें उनकी हालत के बारे में बताया। तब दूतावास कार्यालय ने उन्हें सुरक्षा की दृष्टि से अपने खर्च पर विमान से दिल्ली भेजा। दिल्ली से भुवनेश्वर के लिए भी फ्लाइट के टिकट बुक किए गए। भारत में संबद्ध प्राधिकारियों को इस बारे में सूचित कर दिया गया था ताकि बच्चे अपने घर तक सही सलामत पहुंच सकें क्योंकि उनके साथ कोई भी बड़े व्यक्ति नहीं थे।’’

इस दंपती के बड़े पुत्र अब्दुल रहमान ने बताया ‘‘मुझे नहीं पता कि मेरे माता पिता ने कोई अपराध किया है। वे बेकसूर हैं। उन्हें झूठे आरोपों में गिरफ्तार किया गया है। मैं उनकी कमी बहुत महसूस करता हूं। सउदी पुलिस ने मेरे माता पिता को बहुत बुरी तरह पीटा था। मैं उनसे जेल में मिला था। मैंने उनके शरीर पर चोटों के निशान देखे थे। मुझे देख कर वह लोग बच्चों की तरह रो पड़े थे। ऐसा लगता है जैसे मैं अनाथ हो गया हूं।’’

रोते हुए अब्दुल रहमान ने कहा ‘‘मेरे पड़ोसी हमारी मदद करते थे। माता पिता जेल में थे तो पड़ोसियों ने हमें खाना दिया और हमारी देखरेख की। उन्होंने दूतावास कार्यालय को सूचित किया और हम केंद्रपाड़ा आए।’’

उसने बताया ‘‘अभी हम अपने चाचा शेख फैयाज के घर पर रह रहे हैं। मैं सरकार से अपील करता हूं कि वह मेरे अभिभावकों को रिहा कराने के लिए हस्तक्षेप करे।’’

शेख फैयाज ने बताया ‘‘मेरे छोटे भाई निजाम और उसकी पत्नी को झूठे आरोपों में गिरफ्तार किया गया है। मैंने राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और ओडिशा के मुख्यमंत्री को ई मेल के जरिये अपनी परेशानी बताई है। उनके कार्यालय को चाहिए कि वह सउदी अरब में इस दंपती को कड़ी सजा से बचाने के लिए हस्तक्षेप करे।’’

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You