विकास हुआ, लेकिन जनता को रास नहीं आया

  • विकास हुआ, लेकिन जनता को रास नहीं आया
You Are HereNcr
Monday, October 28, 2013-12:28 PM

नई दिल्ली (सज्जन चौधरी) दिल्ली के पॉश इलाके राजेंद्र नगर में पार्किंग एक बड़ी समस्या है। इलाके की जनता की मुख्य मांग साफ पीने के पानी की है। कई इलाके तो ऐसे हैं जहां पानी आता ही नहीं, और जब आता है तो बेहद गंदा और बदबूदार। हालांकि इलाके के विधायक की ओर से सीवर लाइन डलवाने का काम शुरू कराया गया है। इलाके में छह जलाशय भी बनवाए गए हैं। विधायक रमाकांत गोस्वामी ने इलाके में विकास कार्य तो कराए, लेकिन जनता के लिए मूलभूत सुविधाओं पानी, पार्किंग का अभाव लगातार बना रहा। पूरे इलाके में फुटओवर ब्रिज की भारी आवश्यकता होने के बावजूद अभी तक कोई फुटओवर ब्रिज नहीं बनवाया गया है।

चुनावी मुद्दे-

लाइनें तो डलवाई, लेकिन पानी नही है : इलाके के लोगों का कहना है कि विधायक जी ने इलाके में पाइप लाइन तो डलवा दी हैं, लेकिन लाइनों में पानी ही नहीं आएगा तो उन लाइनों का फायदा क्या। करोड़ों रुपए की पाइपलाइन डलवाए जाने के बावजूद इलाके में पीने के पानी की भारी समस्या है। ओल्ड  राजेंद्र नगर, नरायणा लोहा मंडी, रत्नागिरी चौक, दसघरा, डोडापुर गांव में पीने के पानी की भारी समस्या है। 

शौचालयों की कमी : राजेंद्र नगर विधान सभा की कई कालोनियों में शौचालयों की भारी कमी है। कठपुतली कालोनी, वाल्मिकी कालोनी 100 क्वार्टर, इंद्रपुरी जेजे कालोनी में शौचालयों की भारी कमी है। लोगो को खुले में शौच करते आसानी से देखा जा सकता है। इलाके के लोगों का कहना है कि खुले में शौच करने के कारण गंदी बदबू उठती रहती है। कठपुतली कालोनी की कई गलियों में से गुजरना भी लोगों के लिए मुश्किल हो चुका है। 

विधानसभा का इतिहास 

राजेंद्र नगर विधान सभा में भाजपा विधायक पूरन चंद योगी द्वारा आत्महत्या किए जाने के बाद बाई-इलेक्शन हुए थे। जिसमें कांग्रेस के रमाकांत गोस्वामी ने पूरन चंद योगी की पत्नी आशा योगी को हराकर सीट पर कब्जा किया था। 

विपक्ष के वार:

पांच साल से जनता विधायक की शक्ल देखने को तरस गई है। पूरे इलाके में पीने के पानी की समस्या विकराल रूप ले चुकी है। सीवर लाईनें ठप पड़ी हैं। कई इलाकों में लोगो को खुले में शौच करते देखा जा सकता है। हैरान करने वाली बात यह है कि ओल्ड राजेंद्र नगर की जनता से मिलने के लिए विधायक जी का कोई दफ्तर ही नही है।                                                                       

 -राजेश भाटिया, नेता,  भाजपा 

 

विधायक  का जवाब :

इलाके में करोड़ों की लागत से विकास कार्य कराए जा रहे हैं। 17 करोड़ की लागत से सड़कों की डेंस पेंटिग कराई जा रही है। पूरी विधान सभा में 16 चौपालों के निर्माण कार्य की स्वीकृति दिलाई गई है। जल्द ही पूरे इलाके मे पानी की समस्या को सुलझा लिया जाएगा। 

 -रामाकांत गोस्वामी, विधायक, कांग्रेस

Edited by:Jeta

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You