प्रमुख साइटों पर आप का कब्जा बना भाजपा की परेशानी का सबब

  • प्रमुख साइटों पर आप का कब्जा बना भाजपा की परेशानी का सबब
You Are HereNational
Wednesday, October 30, 2013-12:48 PM

नई दिल्ली: प्रदेश भाजपा चुनाव प्रभारी नितिन गडकरी व मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार डॉ. हर्षवर्धन आम आदमी पार्टी को भले ही हल्के  में ले रहे हों, लेकिन चुनाव के नजदीक आते समय के साथ आप पार्टी भाजपा पर भारी पड़ती जा रही है। 

अब तक पार्टी नेताओं की कार्यप्रणाली व उसके शासनकाल में हुई कथित गड़बडिय़ों की बखिया उधेडऩे वाली आप पार्टी ने अब उसके विज्ञापन साइटों पर भी कब्जा करना शुरू कर दिया है जिसने भाजपा नेताओं की परेशानी बढ़ा दी है क्योंकि भाजपा को विज्ञापन के लिए न तो कोई सोशल नैटवर्किंग साइट मिल रही है और न राजधानी के प्रमुख इलाकों के यूनीपोल। 

दरअसल शुरूआत से दिल्ली विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटी आम आदमी पार्टी ने अधिकांश उन सभी सोशल नैटवर्किंग साइटों पर अपना चुनाव प्रचार शुरू कर दिया है, जिसे दिल्ली के लोग सबसे ज्यादा देखते हैं। पार्टी की सबसे ज्यादा नजर उन साइटों पर है जिसका उपयोग युवा मतदाता करते हैं क्योंकि दिल्ली विधानसभा चुनाव में इस बार युवा मतदाता अहम भूमिका निभाने वाले हैं जिसकी वजह से सभी राजनीतिक पार्टियों की नजर युवाओं पर टिकी है। सभी पार्टियों ने अपने चुनावी एजैंडे में युवाओं की समस्या को प्रमुखता से शामिल किया है, लेकिन उसे सोशल नैटवर्किंग साइट पर प्रचारित करने के  लिए जगह नहीं मिल रही है। 

भाजपा सूत्रों की माने तो आप पार्टी ने सोशल नैटवर्किंग साइट के अलावा राजधानी के मुख्य इलाकों में लगे यूनीपोल पर भी विज्ञापन लगाना शुरू कर दिया है जिससे हमें विज्ञापन लगाने के लिए अच्छी जगह नहीं मिल रही है। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You