कांग्रेस जाट आरक्षण से मोदी को देगी शिकस्त

  • कांग्रेस जाट आरक्षण से मोदी को देगी शिकस्त
You Are HereNational
Monday, November 04, 2013-3:15 PM

नई दिल्ली: बीजेपी अन्य पिछड़े वर्ग को लुभाने के लिए बीजेपी पीएम इन वेटिंग नरेंद्र मोदी की पहचान ओबीसी के रूप में बताने में जुटी है। ताकि आगामी लोकसभा चुनाव में ओबीसी वोटर सत्ता के बंद दरवाजे खोल दें। वहीं मोदी को शिकस्त देने के लिए कांग्रेस ने अपने नए पत्ते खोलने शुरू कर दिए हैं। कांग्रेस जानती है कि आम जनता मंहगाई और घोटालों से इस बार खासी परेशान है और खाद्य सुरक्षा बिल भी अपना कोई खास असर नहीं दिखा पाया है तो ऐसे में लोकसभा चुनाव में बेहतर स्थिति के लिए कांग्रेस ने आरक्षण कार्ड खोला है।

 

सूत्रों के अनुसार यूपीए सरकार जल्द ही केन्द्र सरकार की नौकरियों में जाटों को आरक्षण देने का ऐलान कर सकती है। वहीं कांग्रेस पार्टी का रुख भी जाट आरक्षण को लेकर सकारात्मक है। पार्टी को इस बात का एहसास हो गया है कि मोदी की ओबीसी वाली आइडेंटिटी को झुठलाया नहीं जा सकता है। कांग्रेस नेतृत्व का मानना है कि मोदी की इस पहचान का तोड़ नहीं ढूंढ़ा गया तो यह सपा, बसपा (यूपी), राजद और जदयू (बिहार) की तरह भाजपा के लिए फायदेमंद हो सकता है इसलिए कांग्रेस ने मोदी को जवाब देने के लिए यह कदम उठाया है हालांकि कांग्रेस की यह राह इतनी आसान नहीं है और जाट आरक्षण से पहले कांग्रेस को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा।

 

गौरतलब है कि हिंदी पट्टी के राज्यों (उत्तर प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा, दिल्ली और मध्य प्रदेश) में जाट समुदाय के लोग चुनावों में बड़ी भूमिका निभाते हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You