बहराइच रैली: मोदी बोले, मेरी आवाज के आगे मीडिया ने राहुल की आवाज बंद कर दी

  • बहराइच रैली: मोदी बोले, मेरी आवाज के आगे मीडिया ने राहुल की आवाज बंद कर दी
You Are HereNational
Friday, November 08, 2013-4:35 PM

बहराइच: भारतीय जनता पार्टी :भाजपा: के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी ने आज आरोप लगाया कि आगामी लोकसभा चुनाव में सपा, बसपा और कांग्रेस की तिकड़ी के बजाय सीबीआई और इंडियन मुजाहिदीन उनकी तरफ से चुनाव का मोर्चा सम्भालेंगे, ताकि कांग्रेस का किला बच सके। ‘ब्रहमा की तपोभूमि’ बहराइच में भाजपा की विजय शंखनाद रैली में मोदी ने कहा कि एक के बाद एक जिस तरह की घटनाएं हो रही हैं, ऐसा लगता है कि जो लोग मोदी को गुजरात में परास्त नहीं कर पाये और जिन्हें लगता ह कि लोकतांत्रिक तरीके से तो भाजपा और मोदी को अब रोका नहीं जा सकता, उन्होंने दूसरे तौर-तरीके अपनाये हैं। कभी सीबीआई को पीछे लगा दो, कभी इंडियन मुजाहिदीन को खुली छूट दे दो।’’

उन्होंने कहा ‘‘मुझे लगता है कि अगले चुनाव में सपा, बसपा और कांग्रेस की तिकड़ी चुनाव के मैदान में नहीं आयेगी। अगले चुनाव में तो मुझे लगता है कि सीबीआई, आईएम यही लोग चुनाव का मोर्चा सम्भालेंगे, ताकि वे कांग्रेस का मोर्चा बचा सकें।’’ मोदी ने चेतावनी के अंदाज में कहा ‘‘बम, बंदूक और पिस्तौल के सहारे राजनीति करने वाले कान खोलकर सुन लें, हम दूसरी मिट्टी की पैदावार हैं। ना हम आतंकवादियों से झुके हैं, ना झुकने वाले हैं। हम आतंकवादियों को झुकाकर रहेंगे, जड़ से साफ करके रहेंगे।’’

मोदी ने कहा ‘‘चाहे सपा हो, बसपा हो या कांग्रेस....इनका नाम भले अलग हो लेकिन गोत्र, चरित्र, डीएनए और मकसद एक है। इनको कभी अलग मत मानना।’’ उत्तर प्रदेश की राजनीति में खास प्रभाव रखने वाली सपा और बसपा पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि हिन्दुस्तान के अंदर दो दल ऐसे है, जिनके बीच इस बात को लेकर स्पर्धा चलती है कि सबसे ज्यादा अपराधी किसके खेमे में हैं। इनके बीच भ्रष्टाचार की स्पर्धा चल रही है। मोदी ने कहा कि सपा और बसपा केन्द्र की सरकार को बचाये हुए हैं। उनके पास इतनी ताकत है कि दिल्ली की सरकार को झुका सकते हैं। वे चाहें तो बहराइच के लिये एयरपोर्ट या रेल मांगें तो वह मिल सकती है, लेकिन यह नहीं मांग रहे। वे कुछ नहीं मांगते सिवाय सीबीआई से मुक्ति के।

उन्होंने देश में बदलाव की लहर चलने का इशारा करते हुए कहा ‘‘मौसम बदल रहा है। सिर्फ बहराइच में ही नहीं, कश्मीर से कन्याकुमारी, पूरे हिन्दुस्तान का मौसम बदल रहा है। जो लोग सत्ता के नशे में डूबे हुए हैं और जिन्होंने सत्ता का उपयोग अपने ऐशोआराम के लिये किया है। ऐसे सब लोगों को एक भारी संकट का एहसास हो गया है। मोदी ने सवाल किया ‘‘हमारा इतना विरोध क्यों हो रहा है, इसलिये कि उनकी सत्ता जाने वाली है। सिर्फ यही कारण नहीं है, उनको यह भी पता है कि अगर इस बार दिल्ली में भाजपा की सरकार बन गयी तो इस देश को तबाह बर्बाद करने वालों का ठिकाना कहां होगा।’’

मोदी ने देश के लोकतंत्र के साथ खिलवाड़ किये जाने का आरोप लगाते हुए कहा ‘‘आपको जानकर हैरानी होगी कि केन्द्रीय सूचना प्रसारण मंत्रालय ने टीवी मीडिया को एक आदेश एडवाइजरी जारी की है कि चैनलों ने गुजरात के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी को भी प्रधानमंत्री की तरह लालकिले पर भाषण करते हुए क्यों दिखाया। उस पर रोक लगनी चाहिये।’’

उन्होंने कहा, ‘‘पिछली 15 अगस्त की घटना पर यह एडवाइजरी अभी हफ्ते भर पहले ही दी गयी है। केन्द्र सरकार को प्रधानमंत्री की गरिमा की चिंता नहीं थी बल्कि परेशानी इस बात की हुई कि 27 अक्तूबर को पटना में जब राजनाथ सिंह और मोदी भाषण दे रहे थे, तभी दिल्ली में उनके शहजादे (राहुल गांधी) भाषण कर रहे थे। मीडिया वालों ने गलती यह की कि शहजादे को दिखा तो रहे थे लेकिन वहां मोदी ही दिखते और सुनायी देते थे। इससे कांग्रेस बौखला गयी।’’

मोदी ने कहा ‘‘यह सवाल मोदी या भाजपा की रैली का नहीं बल्कि लोकतंत्र की रक्षा का है। यह हमारा गला घोंटने का काम है। हम टीवी की स्क्रीन पर भले ना दिखायी दें लेकिन अवाम के दिलों में जगह बना चुके हैं।’’उन्होंने पटना में गत 27 अक्तूबर को हुए बम धमाकों को भी लोकतंत्र पर हमले की संज्ञा देते हुए कहा, ‘‘हमारे बिहार के भाई-बहन छठ पूजा मनाते हैं लेकिन उसी के पहले आतंकवादियों ने निर्दोषों को मौत के घाट उतार दिया। किसी ने अपना पति खोया तो किसी ने अपना बाप और लाडला खोया। वह छठ पूजा कैसे मनाएंगी। उनका गुनाह यह है कि वे भारत मां की जय बोलते थे और इसलिये उनको मौत के घाट उतार दिया जाए।’’


गत सितम्बर में मुजफ्फरनगर में हुए साम्प्रदायिक दंगों के मामले में भाजपा विधायकों संगीत सोम तथा सुरेश राणा पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून की तामील किये जाने पर सवाल उठाते हुए मोदी ने कहा ‘‘जिस तरह से वोट बैंक की राजनीति की जा रही है, मैं उत्तर प्रदेश की सत्ता में बैठे शहंशाहों से पूछना चाहता हूं कि क्या कारण था कि आपने भाजपा को बदनाम करने के लिये हमारे दो विधायकों को जेल में बंद कर दिया और जब न्यायपालिका ने उनको छोड़ दिया तो दूसरे कानून लगाकर दोबारा जेल भेज दिया।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You