क्या कोई मुख्यमंत्री अशोकनगर और उज्जैन में रात गुजारने का साहस कर पाएगा?

  • क्या कोई मुख्यमंत्री अशोकनगर और उज्जैन में रात गुजारने का साहस कर पाएगा?
You Are HereNational
Sunday, November 10, 2013-11:45 AM

भोपाल: मध्यप्रदेश में दो नगरों अशोकनगर एवं इछावर के बारे में मिथक है कि जब भी किसी मुख्यमंत्री ने इन नगरों को दौरा किया, उन्हें छह माह के भीतर अपने पद गंवाने पड़े हैं। इसी तरह महाकाल की नगरी उज्जैन के बारे में ऐसा माना जाता है यह ऐसा नगर है कि वहां यदि किसी मुख्यमंत्री ने रात गुजारी तो उसे भी छह माह में अपना पद छोडऩे पर मजबूर होना पड़ा। जिला मुख्यालय अशोकनगर में अभी तक जिन मुख्यमंत्रियों ने दौरा किया उन्हें छह माह के भीतर अपनी कुर्सी गंवानी पड़ी और अभी तक 11 मुख्यमंत्री अशोक नगर का दौरा करने के बाद अपनी कुर्सी गवां चुके हैं।

 

अशोकनगर से जुडे इस मिथक को देखते हुए पिछले दस साल से कोई भी मुख्यमंत्री यहां नहीं आया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह का कई बार अशोकनगर का दौरा बना लेकिन अंतिम समय में उनका दौरा या तो स्थगित कर दिया गया अथवा स्थान बदल दिया गया। यहां तक कि मुख्यमंत्री ने प्रदेश के 50 में से 49 जिला मुख्यालयों पर अटल ज्योति अभियान की शुरुआत की लेकिन वे अशोकनगर नहीं गस् और जिले के मुंगावली में इस अभियान की शुरुआत की।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You