मुजफ्फरनगर दंगे सपा-भाजपा की मिलीभगत का परिणाम: मायावती

  • मुजफ्फरनगर दंगे सपा-भाजपा की मिलीभगत का परिणाम: मायावती
You Are HereNational
Sunday, November 10, 2013-5:23 PM

लखनउ: बहुजन समाज पार्टी (बसपा) अध्यक्ष मायावती ने मुजफ्फरनगर और शामली जिले में हुए सांप्रदायिक दंगों को उत्तर प्रदेश में सत्ताधारी समाजवादी पार्टी (सपा) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की मिलीभगत का परिणाम बताते हुए आज कहा कि दंगों के दोषियों को कड़ी सजा दिलाने में हो रही हीलाहवाली इसका सबूत है।

मायावती ने आज लोकसभा चुनाव की तैयारी की समीक्षा के लिए बुलायी गयी पार्टी पदाधिकारियों की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि मुजफ्फरनगर और शामली में हुए सांप्रदायिक दंगों के दोषियों को अभी तक कड़ी सजा नहीं दिलाए जाने से यह साबित हो चुका है कि वे दंगे सपा और भाजपा की मिलीभगत से हुए। बसपा प्रमुख ने पिछड़े वर्ग की अति-पिछड़ी 17 जातियों को अनुसूचित जाति में शामिल किए जाने के प्रस्ताव पर जोर देने के लिए सपा द्वारा निकाली गयी ‘अधिकार रथयात्रा’ की ओर इशारा करते हुए कहा कि जातिवादी मानसिकता से ग्रसित सपा ने इन जातियों के हितों के साथ खिलवाड़ करने के अलावा कुछ नहीं किया।

मायावती ने कहा कि सपा ने पहले ही ओबीसी समाज के साथ छल और दिखावा करके उसका काफी नुकसान कराया है और एक बार फिर उन्हें गुमराह करने की कोशिश में लगी है। उन्होंने केन्द्र में संप्रग सरकार का नेतृत्व कर रही कांग्रेस और सपा सरकार को जनहित और देश हित के मोर्चे पर पूरी तरह विफल बताया और भाजपा को ‘संकीर्ण’ तथा ‘सांप्रदायिक सौहार्द को बिगाडऩे की सोच  से काम करने वाली पार्टी’ करार दिया और कहा कि बसपा को इन तीनों से मुकाबला करना है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You