हुड्डा सरकार के पीछे पड़ी है सीएलयू, सीडी

  • हुड्डा सरकार के पीछे पड़ी है सीएलयू, सीडी
You Are HereNational
Friday, November 15, 2013-10:00 AM

चंडीगढ़ः मुख्यमंत्री के रूप में अपने चार वर्ष पूरा करने के बाद एक बड़ी रैली ‘सफलता पूर्वक’ आयोजित करने के बावजूद हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के पीछे तीन चीजें लगातार पड़ी हुई हैं-सीएलयू, सीडी और पार्टी के असंतुष्ट नेता। गोहाना कस्बे में अपनी ताकत का प्रदर्शन करने से ठीक एक दिन पहले हुड्डा सरकार को उसकी विरोधी पार्टी इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) ने एक सीडी जारी कर शर्मसार कर दिया। इस सीडी में राज्य सरकार के स्वास्थ्य मंत्री नरेंद्र सिंह कथित रूप से भूमि उपयोग परिवर्तन (सीएलयू) लाइसेंस पाने के लिए 30 से 50 करोड़ रुपये में सौदा पटाते दिखाए गए हैं।

वर्ष 1999 से 2005 के दौरान अपने कार्यकाल में भ्रष्टाचार करने के गंभीर आरोपों का सामना कर रहे इनेलो प्रमुख ओम प्रकाश चौटाला और उनके बेटे अजय चौटाला शिक्षक भर्ती घोटाला मामले में सजा पाने के बाद जेल में बंद हैं। विपक्षी पार्टी अब हुड्डा सरकार पर आक्रामक हो गई है। इनेलो ने इससे पहले सत्ताधारी दल के विधायकों और उनके ‘प्रिय’ को सीएलयू प्राप्त करने का सौदा करते हुए बनाई गई सीडी जारी की थी। इन आरोपों की हरियाणा लोकायुक्त से जांच के आदेश दिए जा चुके हैं।

हुड्डा सरकार ने सीएलयू और भूमि सौदे से जुड़े कई विवादों का सामना किया है। ऐसे विवादों में संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) की अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा से लेकर अब स्वास्थ्य मंत्री नरेंद्र का किस्सा शामिल है। विवादास्पद आईएएस अधिकारी अशोक खेमका ने हुड्डा सरकार को पिछले वर्ष कठघरे में खड़ा कर दिया था। खेमका ने वाड्रा की कंपनी और भूमि एवं संपत्ति का कारोबार करने वाली बड़ी कंपनी डीएलएफ के बीच सौदे को रद्द कर दिया था और वाड्रा के बेनामी भूमि सौदे की जांच के आदेश दिए थे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You