इशरत जहां मुठभेड़ केस में आया एक नया मोड़

  • इशरत जहां मुठभेड़ केस में आया एक नया मोड़
You Are HereNational
Saturday, November 16, 2013-11:35 AM

नई दिल्ली: गुजरात के बहुचॢचत इशरत जहां मुठभेड़ मामले में एक नया मोड़ आया है और केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने इशरत के दोस्त अमजद अली राणा और जिशान जौहर का विस्तृत ब्यौरा पाकिस्तान से मांगा है। सीबीआई ने पाकिस्तान को एक न्यायिक आग्रह पत्र भेजा है, जिसमें अमजद और जिशान का विस्तृत ब्यौरा उपलब्ध कराने का अनुरोध किया गया है। इशरत के साथ अमजद और जिशान भी 15 जून 2004 को कथित मुठभेड में मारे गए थे। पाकिस्तान सरकार से दोनों के वहां के नागरिक होने की असलियत बताने को कहा गया है।

सीबीआई सूत्रों ने बताया कि इशरत जहां मुठभेड मामले में इस माह के अंत तक एक पूरक आरोप पत्र दायर किया जा सकता है। सूत्रों के अनुसार, अमजद और जिशान की पहचान के लिए जम्मू-कश्मीर में चलाए गए अभियान से एजेंसी को दोनों की नागरिकता के बारे में कोई ठोस जानकारी हासिल नहीं हुई है। गुजरात पुलिस का दावा है कि दोनों पाकिस्तानी आतंकवादी थे और मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को ठिकाना लगाने के अभियान पर भारत आए थे।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You