आसाराम की जमानत अर्जी पर बहस रही अधूरी

  • आसाराम की जमानत अर्जी पर बहस रही अधूरी
You Are HereNational
Saturday, November 16, 2013-3:22 PM

जोधपुर: नाबालिग लड़की के साथ यौन दुराचार के आरोप में जेल में बंद आसाराम की जमानत अर्जी पर अदालत में आज अधूरी रही बहस सोमवार को भी जारी रहेगी। जोधपुर जिला एवं सत्र न्यायालय (ग्रामीण) के न्यायाधीश मनोज कुमार व्यास के समक्ष कल आसाराम की ओर से जमानत अर्जी पेश की गई थी जिस पर आज सुनवाई की गई।

आसाराम की ओर से बेंगलूर से आये अधिवक्ता ने अपनी दलीलें पेश कर बचाव पक्ष की ओर से बहस पूरी कर ली तथा अभियोजन पक्ष अपना पक्ष सोमवार को रखेगा।सीबीआई की ओर से आसाराम एवं अन्य सह आरोपियों के खिलाफ गत पेशी पर आरोप पत्र पेश कर दिया गया था।

सीबीआई ने 58 गवाहों की सूची न्यायालय में पेश की है। अदालत में बहस लोक अभियोजक की नियुक्ति के बाद शुर की जायेगी। अदालत में आज आसाराम. उसका मुख्य सेवादार शिव, रसोईयां प्रकाश, छिंदवाडा गुरुकुल का संचालक शरदचन्द्र एवं छात्रावास की वार्डन शिल्पी को भी पेश किया गया। इन सभी आरोपियों को सोमवार को पेश किया जायेगा। उल्लेखनीय है कि इस अदालत में और राजस्थान उच्च न्यायालय में आसाराम की एक बार जमानत अर्जियां खारिज हो चुकी हैं तथा आरोप पत्र पेश होने के कारण निचली अदालत में फिर जमानत अर्जी लगाई गई है। जोधपुर के पास मणाई आश्रम में गत 15 अगस्त को नाबालिग लड़की के साथ यौन दुराचार करने की रिपोर्ट पीड़िता के परिजनों ने 20 अगस्त को दिल्ली के कमला मार्केट थाने में दर्ज कराई थी। घटना जोधपुर की होने के कारण जांच हेतु प्राथमिकी यहां भेजी गई थी।

पुलिस गत 31 अगस्त की रात मध्यप्रदेश के इंदौर स्थित आश्रम से आसाराम को गिरफ्तार कर यहां लाई थीं तथा एक दिन की पुलिस हिरासत में लेने के बाद दो सितम्बर को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजदिया था। आसाराम यहां केन्द्रीय कारागार में हैं। इस मामले में सह आरोपियों ने पुलिस एवं अदालत के समक्ष समर्पण किया और उनका रिमाण्ड खत्म होने के बाद वे भी यहां जेल में हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You