संसद में अंग्रेजी में भाषण देने पर लगे रोक : मुलायम सिंह

  • संसद में अंग्रेजी में भाषण देने पर लगे रोक : मुलायम सिंह
You Are HereNational
Monday, November 18, 2013-7:50 AM

इटावा : समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख मुलायम सिंह ने देश में अन्य विपक्षी दलों के नेताओं पर हिंदी के प्रति दोहरा चरित्र अपनाने का आरोप लगाया। उन्होंने संसद में अंग्रेजी में भाषण देने पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है।

इटावा हिंदी न्यास की ओर से आयोजित 21वें सारस्वत समारोह में मुलायम ने यह विचार व्यक्त किए। इस मौके पर बुलेट राजा और साहब, बीवी और गुलाम जैसी फिल्मों के निर्माता तिग्मांशु धूलिया समेत 14 हस्तियों को हिंदी को बढ़ावा देने के लिए सम्मानित किया गया। अपने भाषण में उन्होने देश के नेताओ को कहा कि वे जनता से वोट तो हिन्दी बोलकर मांगते हैं, लेकिन संसद में अंग्रेजी में ही बात करते हैं। इस दोहरे चरित्र से हिन्दी का उत्थान कैसे होगा। उन्होंने कहा कि संसद में अंग्रेजी भाषणों पर रोक लगनी चाहिए। जिन देशों ने अपनी मातृभाषा को सरकारी कामकाज की भाषा बनाया, उन्होंने ज्यादा तरक्की की है। दूसरे देशों में हिंदी के प्रति रुझान बढ़ रहा है, जबकि हिंदुस्तानी लोग इससे दूर हो रहे हैं।

हालांकि मुलायम ने कहा कि वह अंग्रेजी के विरोधी नहीं हैं, लेकिन उन्हें महसूस होता है कि देश के नेता अपनी भाषा हिंदी को ही तवज्जो दें, ताकि संसद में उनकी बात देश की गरीब और पिछड़ी जनता को भी समझ में आए।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You