दो नाबालिग नौकरानियों को बचाया

  • दो नाबालिग नौकरानियों को बचाया
You Are HereCrime
Monday, November 18, 2013-3:01 PM

नई दिल्ली (कृष्ण कुणाल सिंह): दक्षिण जिला के संगम विहार इलाके से नेब सराय पुलिस ने बचपन बचाओ आंदोलन एन.जी.ओ. की मदद से 2 नाबालिग नौकरानियों को मुक्त कराया है।

मुक्त कराई गई नाबालिग नौकरानियां पश्चिम बंगाल की रहने वाली हैं। पुलिस ने दोनों  लड़कियों को एम्स अस्पताल में मैडीकल जांच के लिए भर्ती कराया है। पुलिस ने प्लेसमेंट एजेंसी मालिक को हिरासत में ले लिया है। सोमवार को दोनों नाबालिग लड़कियों को राष्ट्रीय महिला आयोग में पेश किया जाएगा। जिसके बाद प्राथमिकी दर्ज की जाएगी।

जानकारी के अनुसार संजय गुप्ता अपने परिवार के साथ संगम विहार इलाके में रहता है। उसने दो शादियां कर रखी है। एक बीवी पश्चिम बंगाल की रहने वाली है जबकि दूसरी उड़ीसा की रहने वाली है। पश्चिम बंगाल की रहने वाली उसकी बीवी यहां पर ब्यूटी पार्लर चलाती है। जबकि वह घरों में नौकर दिलाने के नाम पर प्लेसमेंट एजेंसी चलाता है। वह अपनी पत्नी की मदद से नौकरी दिलाने के नाम पर लड़कियों को दिल्ली लाता था और यहां पर नौकरानियों को बंधक बना भूखा रखता था। विरोध करने पर मारपीट भी की जाती है।

बचपन बचाओ आंदोलन से जुड़े संजय कुमार ने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि संजय गुप्ता ने अपने घर में दो नाबालिग लड़कियों को बंधक बनाकर रखा था। उन्हें न तो खाने को खाना भी नहीं दिया जा रहा है। वहीं विरोध करने पर पिटाई भी की जाती है। एनजीओ ने इसकी सूचना नेब सराय पुलिस को दी। रविवार दोपहर करीब 12 बजे पुलिस ने एनजीओं की मदद से दो लड़कियों को मुक्त कराया। एक की उम्र 12 साल है जबकि दूसरे की उम्र 13 साल है। दोनों बंगाल की रहने वाली है। पुलिस ने दोनों को एम्स में भर्ती कराया है।

 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You