उन्नाव के बाद वाराणसी में खुदाई करेगी एएसआई!

  • उन्नाव के बाद वाराणसी में खुदाई करेगी एएसआई!
You Are HereUttar Pradesh
Friday, November 22, 2013-12:35 PM

लखनऊ: उन्नाव के डौडिया खेड़ा में किले के खुदाई के बाद एएसआई की टीम अब वाराणसी के राजघाट पर खुदाई करेगी। जिसके बाद काशी के विश्व की प्राचिन जीवंत नगरी होने का दावा और पुख्ता हो जाएगा। इसके लिए भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग (एसएसआई) ने खुदाई का खाका तैयार कर लिया है। पुरातत्वविदों का मानना है राजघाट में अंतिम बार काशी हिंन्दू विश्वविद्यालय ने वर्ष 1960 से 1969 तक खुदाई की थी। उस वक्त खुदाई से मिले तथ्य से खुलासा हुआ कि ईसापूर्व 12 शताब्दी से लेकर आज तक काशी में मानव जीवन रहा है।

माना जा रहा कि दोबारा खुदाई से पाप्त अवशेषों का कार्बन डेटिंग भी कराई जाएगी। जिसके बाद काशी को विश्व का सबसे प्रचीन शहर कहने का प्रमाण और पुख्ता हो जाएगा। खुदाई के लिए  एएसआई के अतिरिक्त महानिदेशक डॉ. बी.आर. मणि और बीएचयू के सेवानिवृत प्रो. विदुला जायसवाल ने राजघाट जाकर उत्खनन स्थल का जायजा लिया। उपअधीक्षण पुरातत्वविद अजय श्रीवास्तव ने बताया कि खुदाई की योजना बन गई है जल्द काम शुरू किया जाएगा।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You