बोधगया विस्फोट: सिमी समेत चार 27 तक पुलिस रिमांड में

  • बोधगया विस्फोट: सिमी समेत चार 27 तक पुलिस रिमांड में
You Are HereNational
Saturday, November 23, 2013-9:28 AM

रायपुर: छत्तीसगढ़ के स्थानीय अदालत ने राजधानी रायपुर से गिरफ्तार बोधगया विस्फोट के मास्टर माइंड समेत सिमी के चार सदस्यों की पुलिस रिमांड की अवधि बढ़ा दी है वहीं सात अन्य को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। सिमी के गिरफ्तार सदस्यों के अधिवक्ता अमिन खान ने आज यहां संवाददाताओं को बताया कि मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी आलोक कुमार की अदालत ने सिमी के चार सदस्य बोधगया विस्फोट के मास्टर माइंड उमेर सिध्दकी, शेख हबीब उल्ला, रोशन शेख और हयात खान को इस महीने की 27 तारीख तक पुलिस रिमांड में भेजा है।

आज इनकी पुलिस रिमांड खत्म होने के कारण इन्हें अदातल में पेश किया गया था। खान ने बताया कि वहीं इस मामले में गिरफ्तार सात अन्य सिमी कार्यकर्ता शेख अजिजुल्लाह, मोइनुद्दीन कुरैशी, अब्दुल वाहिद, मोहम्मद अजीज, मोहम्मद दाउद, मोहम्मद असलम और शेख सुभान को छह दिसंबर तक न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। उन्होंने बताया कि अदालत ने गिरफ्तार सिमी कार्यकर्ताओं के परिजनों को उनसे मिलने की अनुमति दी है। इससे पहले पुलिस ने गिरफ्तार आरोपियों से उनके परिजनों को मिलने की अनुमति नहीं दी थी। छत्तीसगढ़ के रायपुर जिले की पुलिस ने इस महीने की 15 तारीख को उमेर सिद्दकी, और अब्दुल वाहिद खान को गिरफ्तार कर लिया था। बाद में पुलिस ने उनके छह अन्य साथियों को भी गिरफ्तार कर लिया।

वहीं मोहम्मद दाउद, मोहम्मद असलम, और शेख सुभान को बीती रात गिरफ्तार किया गया। पुलिस के मुताबिक उमेर सिद्दकी बोध गया विस्फोट मामले का मास्टर माइंड है तथा पटना विस्फोट में भी उसका हाथ है। उमेर का संबंध आतंकवादियों से रहा है तथा पटना विस्फोट के बाद उसने मुख्य आरोपी अब्दुल्ला, नमन आलम, ताफिक और मुजिबुल्ला को यहां पनाह दी थी। सभी आतंकवादी फरार हैं। पुलिस अधिकारियों ने बताया है कि गिरफ्तार सिमी कार्यकर्ताओं ने गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी हमले की साजिश रची थी। हालंकि कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के कारण वह इसमें सफल नहीं हो सके।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You