कांग्रेस ने जासूसी मामले की जांच को ‘‘मोदी बचाओ आयोग’’ करार दिया

  • कांग्रेस ने जासूसी मामले की जांच को ‘‘मोदी बचाओ आयोग’’ करार दिया
You Are HereNational
Wednesday, November 27, 2013-9:38 PM

नई दिल्ली: गुजरात में महिला की अवैध जासूसी मामले को लेकर भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार पर हमले जारी रखते हुए कांग्रेस ने आज इस मामले में गुजरात सरकार द्वारा घोषित जांच को खारिज करते हुए इसे नरेन्द्र ‘‘मोदी बचाओ कमीशन’’ करार दिया। पार्टी प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला और महिला कांग्रेस की प्रमुख शोभा ओझा ने यहां संवाददाताओं से बातचीत करते हुए आरोप लगाया कि गुजरात में मोदी सरकार द्वारा गठित जांच आयोग का उदेश्य सच को दबाना और मामले को रफादफा करना है।

सुरजेवाला ने कहा कि मोदी बचाओ कमीशन एक हड़बड़ाहट भरी प्रतिक्रिया है और यह सच को दबाने की हताशा भरी कार्रवाई है। उन्होंने इस आयोग पर कई तरह के सवाल उठाते हुए इस बात पर आश्यर्च जताया कि क्या कोई आयोग उसी मुख्यमंत्री और उसकी सरकार की जांच करेगा जिसने उसका गठन किया है। उन्होंने आरोप लगाया कि जांच आयोग गठित करने का उद्देश्य पूरे मामले को दबाना और समय लेना है ताकि जनता के दिमाग से यह मामला उतर जाए। उन्होंने इसे एक ‘‘ढकोसला’’ भी बताया।

पार्टी ने कल गुजरात सरकार द्वारा आयोग गठित किए जाने के आदेश को ‘धूल झोंकना’ और ‘‘मैच फिक्सिंग’’ करार देते हुए मामले की जांच उच्चतम न्यायालय के वर्तमान न्यायाधीश से कराने की मांग की थी। सुरजेवाला ने इस बात पर आश्चर्य जताया कि अमित शाह इस बात को स्वीकार या इंकार क्यों नहीं कर रहे हैं कि कोबरापोस्ट और गुलेल द्वारा किये गये खुलासे में उनकी आवाज नहीं है और यह भी कि मोदी इन आरोपों को स्वीकार या इंकार करने के लिए आगे क्यों नहीं आ रहे हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You