कांग्रेस के अभेद किले में सेंध लगा पाएगी भाजपा?

  • कांग्रेस के अभेद किले में सेंध लगा पाएगी भाजपा?
You Are HereNcr
Saturday, November 30, 2013-12:39 PM

नई दिल्ली (सतेन्द्र त्रिपाठी): 1993 के विधानसभा चुनाव में भाजपा का गढ़ रही गांधी नगर विधानसभा सीट अब कांग्रेस का अभेद किला बन गई है। पिछले 3 चुनाव से कांग्रेस यहां से लगातार बढ़त हासिल कर रही है।

इस बार कांग्रेस के अरविंदर सिंह लवली रिकार्ड तोड़ 40 हजार से अधिक वोटों की जीत का दावा कर रहे हैं। उनके सामने भाजपा के आर.सी. जैन चुनौती दे रहे हैं। उनका दावा है कि 15 साल में कांग्रेस ने गांधी नगर में विकास के नाम पर कुछ नहीं किया है।

बढ़ती मंहगाई ने लोगों को बजट बिगाड़ दिया है। इसका खामियाजा कांग्रेस को भुगतना होगा। महीनों से मेहनत कर रही आप पार्टी के अनिल वाजपेयी क्या कर पाते हैं, यह देखने की बात है। 1993 में इस सीट से भाजपा के दर्शन बहल ने भारी मतों से जीत दर्ज की थी। उनके बाद यह सीट अकाली खाते में क्या गई कि भाजपा गढ़ ढहता चला गया।

1998 में कांग्रेस लगभग 8 हजार, 2003 में करीब 23 हजार, 2008 में लगभग 32 हजार वोटों से जीती। इस बढ़त को देखते हुए कांग्रेस का दावा मजबूत नजर आता है। कांग्रेस सर्मथकों में जबरदस्त उत्साह है। वैसे भाजपा समर्थकों का कहना है कि निगम चुनाव में उन्होंने एक सीट जीती थी। पिछले निगम चुनाव में 2 सीटें थी,  इसलिए इस बार विधानसभा चुनाव में भी उलटफेर होगा। आप पार्टी के अनिल वाजपेयी कहते हंै कि जनता कांग्रेस-भाजपा को परख चुकी है, अब उसे आप को आजमा कर एक मौका देना चाहिए।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You