प्रचार थमा, अब जीत के दावे

  • प्रचार थमा, अब जीत के दावे
You Are HereNcr
Tuesday, December 03, 2013-3:16 PM

नई दिल्ली: मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने सोमवार को चुनाव प्रचार के आखिरी क्षणों में अगले 5 वर्षों के लिए अपनी भावी योजनाओं को पेश किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की चौथी बार सरकार बनने पर पार्किंग के मामले को हल करने के लिए केन्द्रीय पार्किंग प्राधिकरण बनाया जाएगा तथा खाद्य सुरक्षा में दाल और तेल को भी शामिल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सेवा क्षेत्र और ज्ञान आधारित उद्योगों वाला शहर दिल्ली को बनाकर नई नौकरियों का सृजन किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने अपने निवास स्थान पर प्रैस कांफ्रेंस कर अपनी भावी योजनाओं का खुलासा करते हुए कहा कि 150 नए स्कूल खोले जाएंगे और गैर सरकारी स्कूलों में दूसरी पाली शुरू की जाएगी। उन्होंने एन.सी.आर. के लिए साझा आर्थिक क्षेत्र, दिल्ली के लिए एक कमान , काबिल लाडली, भागीदारी चरण-2, डबल डेकर फ्लाईओवर और स्लम बस्तियों का उसी स्थान पर पुनर्विकास का वादा किया। उन्होंने गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के उस आरोप को खारिज किया, जिसमें उन्होंने कहा था कि दिल्ली सबसे अधिक कुशासित राज्य है।

उन्होंने कहा कि गुजरात कई मानदंडों में दिल्ली से बहुत पीछे है। मुख्यमंत्री ने मोदी के ज्ञान पर आश्चर्य व्यक्त करते हुए कहा कि ऐसे नेता, जिसको प्रधानमंत्री पद का दावेदार घोषित किया गया, उसके  पास सही सूचना और ज्ञान तक नहीं है। उन्होंने कहा कि अगर वह देश के प्रधानमंत्री बन गए तो देश का बुरा हाल होगा। मुख्यमंत्री ने विपक्ष द्वारा सत्ता में आने पर बिजली की दरों में 30 प्रतिशत कटौती करने के वायदे को झूठा बताया। उन्होंने कहा कि दरों का निर्धारण बिजली बनाने की लागत और अन्य आंकड़ों के आधार पर किया जाता है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में बिजली की दरें एन.सी.आर. के शहरों, अहमदाबाद, पटना, यू.पी. और हरियाणा से कम हैं।

भाजपा का दावा बनाएंगे सरकार

विधानसभा चुनाव का प्रचार अभियान सोमवार शाम 5 बजे से खत्म हो गया। चुनाव प्रचार समाप्त होते ही भाजपा ने जीत का का दावा भी कर दिया है। प्रदेश भाजपा कार्यालय में लोकसभा में विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज, राज्यसभा में विपक्ष के नेता अरुण जेतली, पार्टी की ओर से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार डॉ. हर्षवर्धन, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विजय गोयल तथा प्रो. विजय कुमार मल्होत्रा द्वारा आयोजित प्रैस वार्ता में सभी नेताओं ने न सिर्फ भारी मतों से चुनाव जीतने का दावा किया, बल्कि  सरकार बनाने की बात भी कही।

सभी नेताओं ने कहा कि पार्टी कार्यकत्र्ताओं ने एकजुटता के साथ मेहनत की  कर सकारात्मक चुनाव अभियान चलाया जिसके दम पर हम दिल्ली में सरकार बनाने जा रहे हैं। नरेंद्र मोदी की रैलियों को काफी सफल बताते हुए उन्होंने कहा कि उनकी रैलियों के सामने कांग्रेस पार्टी के सभी बड़े नेताओं की रैलिया विफल रही। इस दौरान उन्होंने अपने चुनाव प्रचार की रणनीतियों तथा सत्ता में आने पर किए गए वादों को समयबद्ध तरीके से पूरा किया जाएगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You