भाजपा विधायकों ने की कांग्रेस से दोगुनी कमाई

  • भाजपा विधायकों ने की कांग्रेस से दोगुनी कमाई
You Are HereNational
Tuesday, December 10, 2013-1:19 AM

नई दिल्ली (अभिषेक आनन्द): 5 साल बाद दोबारा चुने गए कांग्रेस विधायकों की संपत्ति में जहां औसत 7 करोड़ रुपए का इजाफा हुआ है वहीं भाजपा के दुबारा जीते हुए विधायकों की औसतन संपत्ति 14 करोड़ रुपए बढ़ गई है।

एसोसिएशन ऑफ डैमोक्रेटिक रिफॉम्र्स के विश्लेषण में यह चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। 2013 के दिल्ली विधानसभा चुनाव में भाजपा के 13 विधायक दोबारा चुने गएं हैं जबकि कांग्रेस से 8 एम.एल.ए. इस बार भी जीतने में कामयाब हुए हैं।

2008 से 2013 के बीच सबसे अधिक संपत्ति बढ़ाने वाले विधायक के रूप में भाजपा के सत्य प्रकाश राना का नाम सामने आया है। बिजवासन सीट से जीते सत प्रकाशन ने 1652 फीसदी संपत्ति बढ़ौतरी का हलफनामा चुनाव आयोग को दिया है। यानी 5 साल में 105 करोड़ रुपए की बढ़ौतरी।

2008 में उन्होंने अपनी संपत्ति महज 6.38 करोड़ रुपए बताई थी। ए.डी.आर. के मुताबिक 2008 में उन्होंने अपनी 2 गाड़ी का दाम नहीं बताया था। हालांकि इनके बाद सबसे अधिक ग्रोथ दर्ज करवाने वाले विधायक कांग्रेस के देवेन्द्र यादव हैं। बादली से चुनाव जीतने वाले देवेंद्र की संपत्ति में 20 करोड़ का इजाफा हुआ है। 5 साल पहले उनकी संपत्ति 7 करोड़ रुपए थी। हालांकि उन्होंने भी 2008 में 2 गाड़ी और 2 एल.आई.सी. पॉलिसी का दाम नहीं बताया था। पालम से भाजपा के विधायक धर्म देव सोलंकी का धन 18 करोड़ रुपए ही बढ़ा है।

ए.डी.आर. ने अपने आंकड़ों में यह भी दावा किया है कि सबसे अधिक पैसे वाले विधायकों की संख्या में भी भाजपा आगे हैं और एक भाजपा विधायकों को छोड़कर बाकी 30 करोड़पति हैं। वहीं आप के 28 में 12 विधायक करोड़पति हैं जिन्होंने पहली बार जीत हासिल की है। हालांकि कांग्रेस के भी 8 में 7 विधायक करोड़पति हैं। ए.डी.आर. ने इन आंकड़ों के आधार पर निष्कर्ष निकाला है कि करोड़पति उम्मीदवार की जीतने की संभावना 26 फीसदी अधिक
होती है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You