शीला ने हार ठीकरा अपने पार्टी पर फोड़ा

  • शीला ने हार ठीकरा अपने पार्टी पर फोड़ा
You Are HereNational
Tuesday, December 10, 2013-12:42 PM

नई दिल्ली : पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने हार का ठीकरा पार्टी पर फोड़ा है। उन्होंने कहा कि पार्टी और सरकार के बीच तालमेल नहीं होने के कारण दिल्ली में कांग्रेस की हार हुई है। उनको मलाल है कि संगठन सरकार की उपलब्धियों को जनता तक पहुंचाने में असफल रहा।

ज्ञातव्य है कि पचहत्तर वर्षीय शीला दीक्षित दिल्ली  की मुख्यमंत्री के रूप में अपना चौथा कार्यकाल हासिल करने के प्रयास में बुरी तरह विफल रहीं। उनकी पार्टी कांग्रेस 70 सदस्यीय विधानसभा में महज आठ सीटों पर सिमट गई,जबकि विपक्षी भाजपा ने 31 और पहली बार राजनीति में कदम रखने वाली आम आदमी पार्टी ने 28 सीटें जीतीं।

आप नेता अरविंद केजरीवाल से 25 हजार से अधिक के मतों से हार जाना शीला के लिए एक और बड़ा झटका रहा। उन्होंने सोमवार को अपने निवास पर कहा कि आप और भाजपा बिजली के मुद्दे पर लोगों को गुमराह कर जीती हैं।

 उन्होंने यह भी कहा कि जनता ने किसी एक पार्टी को स्पष्ट रूप से नहीं जिताया है और खंडित जनादेश दिया है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने माना कि सरकार के खिलाफ अंडर करंट था, जिसे हम समझ नहीं पाए। उन्होंने कहा कि केजरीवाल फैक्टर को भी वे समझ नहीं सकीं।

उनसे जब पूछा गया कि उनकी पार्टी और उनकी स्वयं की हार ने उन्हें और उनकी पार्टी को डुबा दिया है तो उन्होंने दार्शनिक अंदाज में कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था में जनता से बढ़कर कुछ नहीं है और वही फैसला करती है। उन्होंने कहा कि हम अपनी हार स्वीकार करते हैं और इसका विश्लेषण करेंगे।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You