भाजपा के खास प्रत्याशियों पर जनता रही मेहरबान

  • भाजपा के खास प्रत्याशियों पर जनता रही मेहरबान
You Are HereNational
Tuesday, December 10, 2013-2:02 PM

नई दिल्ली(सतेन्द्र त्रिपाठी): दिल्ली विधानसभा चुनाव में एक दर्जन से ज्यादा खास प्रत्याशियों पर जनता ने अपनी मेहरबानी दिखाई है। इनमें से किसी को पांचवीं बार जीत मिली है, किसी ने चौका लगाया है। दिल्ली में कांग्रेस का सफाया होने के बावजूद कांग्रेस के भी आठ धुरंधर प्रत्याशी अपनी जीत दर्ज करने में कामयाब रहे। 

भाजपा के खास प्रत्याशियों पर नजर डालें तो कृष्णा नगर से मुख्यमंत्री पद के घोषित प्रत्याशी हर्षवर्धन को तो पांचवीं बार मौका मिला। कृष्णा नगर की जनता तो उन पर ऐसे मेहरबान हुई कि जैसा पिछले 20 सालों में भी नहीं हुई थी। उन्हें मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित करने का जबरदस्त फायदा मिला है।

भाजपा के पूर्व पार्षद डॉ.वी.के.मोंगा कांग्रेस से टिकट लेेन के बावजूद उन्हें कोई चुनौती नहीं दे पाए। विश्वास नगर से ओ.पी.शर्मा तो बेहद खास है। दिग्गज नेता अरुण जेटली के विश्वस्त लोगों में से एक ओ.पी.शर्मा को तो सरकार बनने की स्थिति में मंत्री पद देने की चर्चाएं चल रही है।

शाहदरा से भाजपा-अकाली उम्मीदवार जितेन्द्र सिंह शंटी भी किसी से कम नहीं है। वह तो निगम पार्षद के साथ-साथ अपने शहीद भगत सिंह सेवा दल से भी चॢचत है। करावल नगर से भाजपा के ही मोहन सिंह बिष्ट ने जीत का चौका लगाया है।

भाजपा की मेयर रही डॉ.अन्नपूर्णा के बेटे कपिल मिश्रा ने आप के टिकट पर उन्हें चुनौती तो दी, लेकिन वह फिर भी जीत गए। घौंडा से भाजपा के साहब सिंह चौहान तो सबसे खास प्रत्याशी है। उनका भाषण, उनका स्टाइल तो एकदम ही अलग है। जनता पर उनकी पकड़ ऐसी है कि पिछले दो बार भाजपा की गुटबाजी के बावजूद कोई उन्हें हिला नहीं पाया। वह पांचवीं बार जीते है।

जनकपुरी से जगदीश मुखी, मटियाला से राजेश गहलौत, बिजवासन से सतप्रकाश राणा, महरौली से प्रवेश वर्मा भी खास लोगों में शामिल है। अकाली दल के प्रत्याशी मनजिंदर सिंह सिरसा तो खासों के भी खास है। दिल्ली सबसे अमीर प्रत्याशी है।

कांग्रेस की बात करे तो जीतने वाले आठों ने यह साबित कर दिया कि वह जनता के खास है। कांग्रेस के खिलाफ चली ऐसी लहर जिसमें खुद मुख्यमंत्री ही हार गई। ऐसे में इन आठों ने जीत पाई। इनमें पहला नंबर सीलमपुर के विधायक मतीन अहमद का है। उन्होंने तो 22 हजार के लगभग वोटों से 5वीं बार जीतकर  दिखा दिया कि जनता उन्हें कितना चाहती है। गांधी नगर से कांग्रेस के अरविंदर सिंह लवली ने जीत का चौका लगा दिया है।

कांग्रेस के इकलौते मंत्री है, जिन्होंने इतनी अच्छी जीत पाई है। दूसरे मंत्री हारुन युसूफ का नजाकत भरा स्टाइल उन्हें खास बनाता है। उनके बात करने का ढंग अलग है। वह भी पांचवीं बार जीते है। चांदनी चौक से कांग्रेस प्रहलाद सिंह साहनी चौथी बार तो मुस्तफाबाद से हसन अहमद दूसरी बार जीते है। दोनों ही बार हसन कड़े मुकाबलें में जीते है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You