कपिल सिब्‍बल ने कहा, 'हमें जल्‍द ही कड़े कदम उठाने होंगे'

  • कपिल सिब्‍बल ने कहा, 'हमें जल्‍द ही कड़े कदम उठाने होंगे'
You Are HereNational
Thursday, December 12, 2013-5:34 PM

नई दिल्ली: केंद्रीय कानून मंत्री कपिल सिब्बल ने कहा सरकार समलैंगिकता को अपराध के दायरे से बाहर लाने के लिए सभी विकल्पों पर विचार कर रही है । सिब्बल ने कहा कि हमें वयस्कों के बीच आपसी रजामंदी से समलैंगिक संबंध को अवश्य अपराध के दायरे से बाहर लाना चाहिए। समलैंगिक संबंधों के पक्ष में कहा है कि दो व्यस्क लोगों के बीच आपसी रजामंदी से समलैंगिक संबंध को अवश्य अपराध के दायरे से बाहर लाना चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार समलैंगिकता को अपराध के दायरे से बाहर लाने के लिए सभी विकल्पों पर विचार कर रही है।

बतां दें कि बुधवार को सुप्रीम कोर्ट ने दो वयस्कों के बीच सहमति से समलैंगिक यौन संबंध स्थापित करने को अपराध करार दिया था। लेस्बियन, गे, बाइसेक्सुअल और ट्रांसजेंडर (एलजीबीटी) समुदाय को करारा झटका देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को दिल्ली हाईकोर्ट का वह बहुचर्चित फैसला खारिज कर दिया जिसके तहत समलैंगिक यौन संबंध बनाने को अपराध नहीं माना गया था। कोर्ट ने अपने फैसले में इस मुद्दे पर कानून में संशोधन करने की जिम्मेदारी संसद पर डाल दी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You